गोपालगंज एसपी ने की बड़ी कार्रवाई, महिला थानाध्यक्ष सस्पेंड

गोपालगंज-बिहार में पुलिस के ऊपर एक बार फिर से संगीन आरोप लगे हैं. गोपालगंज एसपी निताशा गुड़िया ने बड़ी कार्रवाई करते हुए महिला थानाध्यक्ष कुमकुम कुमारी को सस्पेंड कर दिया है. छेड़खानी की शिकार हुई छात्रा की आत्महत्या मामले में पुलिस अधीक्षक ने यह कड़ा कदम उठाया है. महिला थानाध्यक्ष कुमकुम कुमारी के ऊपर आरोप है कि FIR कराने गई युवती को न्यूड फोटो वायरल करने की धमकी दी थी.

पूरी घटना जिले के मांझागढ़ के जगरनाथा गांव की है. जहां आरोप है कि महिला थानाध्यक्ष ने छेड़खानी की शिकार हुई पीड़िता की मां के ऊपर झूठा मुकदमा करने और पीड़िता का अश्लील फोटो वायरल करने की धमकी दी. जिसकी वजह से पीड़िता ने फांसी का फंदा लगाकर ख़ुदकुशी कर ली. पीड़िता ने अपने सुसाइड नोट में पिता के नाम एक पत्र लिखा है जिसमें आरोपी को नहीं छोड़ने की अपील की गई है.

महिला थानाध्यक्ष कुमकुम कुमारी पर ये संगीन आरोप अपनी बेटी को खोने वाली मृतका की मां और पिता ने लगाए हैं. परिवार के लोगों के मुताबिक उनकी बेटी गांव से गोपालगंज नगर थाना के जंगलिया मोहल्ले में कोचिंग करने जाती थी. कोचिंग जाने के दौरान उनके गांव का ही एक लड़का शहजाद अली, इरफ़ान अली और उसके तीन दोस्त अक्सर उसे छेड़ते थे. मृतका की मां के मुताबिक आरोपी मनचले उनकी बेटी का दुपट्टा खींचते थे और उसकी साइकिल पकड़ लेते थे. बात करने के लिए मोबाइल से फोटो खींचते थे. इसकी शिकायत जब छात्रा ने अपनी मां और पिता से की तो इस घटना को लेकर पीड़ित रविवार को महिला थाना आये. यहां महिला थानाध्यक्ष ने शिकायत करने के बावजूद आरोपियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की बल्कि बल्कि उल्टे पीड़ित परिजनों को झूठे मुकदमे में फंसाने और छात्रा का फोटो वायरल करने की धमकी दी जाने लगी.