इंडिया-पाक मैच से एक दिन पहले पाकिस्तान ने की नापाक हरकत, बॉर्डर पर मिला BSF जवान का क्षत-विक्षत शव, गुस्से में सोशल मीडिया यूजर्स, लिखा- रद्द हो मैच

चर्चित बिहार नेशनल डेस्क. एशिया कप में आज भारत और पाकिस्तान की टीमें आमने-सामने होंगी। लेकिन मैच से एक दिन पहले पाकिस्तानी सेना की नापाक हरकत सामने आई है। पाकिस्तान की बॉर्डर एक्शन टीम (बैट) ने मंगलवार को बीएसएफ के एक जवान की हत्या कर दी, जिसके बाद से सोशल मीडिया पर मैच कैंसिल करने की मांग की जाने लगी है। बता दें कि जवान नरेंद्र सिंह को सुबह साढ़े 10 बजे सांबा जिले के रामगढ़ सेक्टर में गोली लगी थी, लेकिन उनका दिनभर कोई अता-पता नहीं लगा। देर शाम घटनास्थल से काफी दूर बॉर्डर के पास उनका शव मिला। सूत्रों के अनुसार शव क्षत-विक्षत था।

सोशल मीडिया पर रिएक्शन : भारत-पाकिस्तान मैच के एक दिन पहले पाकिस्तान की हरकत देखकर लोग सोशल मीडिया पर गुस्सा जाहिर कर रहे हैं। हर्ष पटेल नाम के ट्विटर यूजर ने लिखा कि इस मैच को तुरन्त रद्द कर देना चाहिए। वहीं आर्या घोष नाम के यूजर ने लिखा कि ‘जरा पाकिस्तान आर्मी का गेम प्लान देखिए। बीसीसीआई को तुरन्त इंडिया पाकिस्तान का मैच रोक देना चाहिए।’

– एशिया कप टूर्नामेंट में भारत, कप्तान बनाए गए रोहित शर्मा की अगुवाई में खेल रहा है, क्योंकि इस बार विराट कोहली को आराम दिया गया है। दोनों टीमें पिछली साल चैंपियंस ट्रॉफी के दौरान आमने-सामने हुईं थीं और उस वक्त पाकिस्तान ने जीत हासिल की थी। लिहाजा अब भारत के पास पाकिस्तान से बदला लेने का ये बेहतरीन वक्त है।

भारतीय इलाके में घुसकर जवान को ले गए : सूत्रों का दावा है कि बैट के लोग भारतीय इलाके में घुसकर घायल जवान को साथ ले गए थे। काफी देर जवान का शव नहीं मिलने की सूचना दिल्ली तक पहुंची। दिल्ली पर दबाव बनाए जाने के बाद ही शव मिला। हालांकि, बीएसएफ ने इसकी पुष्टि नहीं की है।

सफाई के दौरान पाकिस्तान ने किया हमला : जिले में रामगढ़ सब सेक्टर की एसपी-1 चौकी पर बीएसएफ की 176वीं बटालियन के जवान तैनात हैं। मंगलवार सुबह इंटरनेशनल बॉर्डर के पास सरकंडे साफ किए जा रहे थे। करीब 10.30 बजे पाकिस्तान की ओर से स्नाइपर फायर किया गया। यह जवान नरेंद्र को लगा। वह वहीं पर गिर गए। इसके तुरंत बाद पाकिस्तान की ओर से भारी फायरिंग शुरू हो गई। हमले के बीच बाकी जवान सुरक्षित जगहों पर निकल गए। करीब दो घंटे तक कोई भी घायल जवान के पास नहीं जा पाया। फायरिंग रुकने के बाद जवान मौके पर पहुंचे। वहां नरेंद्र सिंह का हैलमेट और जमीन पर खून के निशान मिले। नरेंद्र का कोई पता नहीं चला। इसके बाद पूरा इलाका घेरकर सर्च ऑपरेशन शुरू किया गया। सूत्रों का कहना कि नरेंद्र की पीठ में गोली लगी थी। जहां उसका खून पड़ा था, वहां से शव बरामद नहीं हुआ है। शव अंतरराष्ट्रीय बॉर्डर के पास मिला है।