विजय सिन्हा ने कहा- पांच साल सुशासन की सरकार थी, नीतीश को 2010 में ही अहंकार हो गया था

0
80

चर्चित बिहार
14 सितम्बर 2022

पटना : बिहार विधानसभा में विपक्ष के नेता सह पूर्व विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार सिन्हा ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार को 2010 में ही अहंकार हो गया था और 2013 में गठबंधन तोड़ दिया था। बिहार में 5 साल सुशासन की सरकार थी। राज्य में जंगलराज फिर से कायम हो गया है। वे सत्ता में रहते हुए भी प्रशासनिक अराजकता की बात करते रहे। सीएम नीतीश ने स्वार्थ में आकर बिहार को भ्रष्टाचारियों के हवाले कर दिया। बिहार में अराजकता का माहौल पैदा हो गया है और इसके लिए मुख्यमंत्री जिम्मेदार हैं।

विजय सिन्हा ने मंगलवार को भागलपुर के एक स्थानीय होटल में भाजयुमो के प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में हिस्सा लिया। इसके बाद पत्रकारों से मुखातिब होते हुए उन्होंने सीएम नीतीश पर निशाना साधा। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि 2005 से 2010 तक एनडीए के शासनकाल में बिहार में सुशासन था। 2010 में नीतीश कुमार को 115 सीट मिलने के बाद अहंकार हो गया और 2013 में एनडीए से गठबंधन तोड़ दिया। 17 साल बाद बिहार में फिर से जंगलराज कायम हो गया है।

उन्होंने कहा कि सीएम नीतीश जंगलराज को जनता का राज कह बिहार की जनता का अपमान ही नहीं राज्य को अराजकता के माहौल में पहुंचाना चाहते हैं। बिहार को अपराधियों के हवाले कर अपने स्वार्थ और महत्वाकांक्षा की पूर्ति करने के लिए सिद्धांतविहीन राजनीति का सबसे बड़ा उदाहरण बन गए हैं। बड़े भाई ने बिहार को जितना शर्मशार किया, उससे कम इस अराजकता को बढ़ाने में इनकी भूमिका नहीं है।

सिन्हा ने कहा कि युवा शक्ति आज दो तिहाई आबादी के साथ स्वामी विवेकानंद के सपनों को साकार करने में लगी है। अपराध और भ्रष्टाचार से बड़ी लड़ाई लड़कर मुक्त किया गया था। लेकिन, सीएम नीतीश ने गलबहिया कर फिर गाड़ी को वहीं पहुंचा दिया। बिहार की जनता सब देख रही है और समय पर जवाब भी मिलेगा। विपक्ष के नेता ने कहा कि अब नीतीश कुमार के साथ जाने का सवाल ही नहीं उठता है।