सिंघिया प्रखण्ड काँग्रेस कमिटी के अध्यक्ष एवं पूर्व प्रखण्ड प्रमुख सम्मानित हीरा प्रसाद सिंह उर्फ हीरा बाबू का निधन

चर्चित बिहार सिंघिया प्रखण्ड काँग्रेस कमिटी के अध्यक्ष एवं पूर्व प्रखण्ड प्रमुख सम्मानित हीरा प्रसाद सिंह उर्फ हीरा बाबू का निधन इलाज के दौरान दिल्ली में हो गया । उनके निधन का समाचार न सिर्फ सिंघिया प्रखण्ड बल्कि सम्पूर्ण जिले में आग की तरह फैल गया इस कारण आज दिनांक 17-12-2018 को जिला काँग्रेस कमिटी द्वारा प्रस्तावित समस्तीपुर तथा रोसड़ा कार्यकर्ता सम्मेलन स्थगित कर दिया गया । आज उनका दाह संस्कार उनके पैतृक गाँव सिंघिया में किया गया । इस अवसर पर जिला काँग्रेस कमिटी समस्तीपुर तथा बिहार प्रदेश काँग्रेस कमिटी के कार्यकारी अध्यक्ष श्री श्याम सुंदर सिंह धीरज की ओर से उनके पार्थिव शरीर को झंडे में लपेट कर पुष्प अर्पित किया गया । इस अवसर पर बड़ी संख्या में काँग्रेसजनो के अलावा हजारों की संख्या में आम जनों ने भी भाग लिया । इसके पूर्व आज जिला काँग्रेस कमिटी कार्यालय समस्तीपुर में एक शोक सभा का आयोजन किया गया जिसकी अध्यक्षता जिला काँग्रेस कमिटी के अध्यक्ष श्री मो० अबू तमीम ने किया । अपने अध्यक्षीय भाषण में श्री तमीम ने उन्हें महान काँग्रेसी की संज्ञा दी जो जीवन पर्यन्त काँग्रेस के लिए संघर्ष करते रहे । वह क्षेत्र में इतने लोक प्रिय थे कि जब तक प्रमुख का पद आरक्षित नहीं हुआ था वह लगातार उस पद पर निर्वाचित होते रहे । तथा पद आरक्षित होने के बाद अपने ही पसंद के व्यक्ति को इस पद पर आसीन किया । इस अवसर पर बोलते हुए बिहार प्रदेश कांग्रेस कमिटी के पूर्व महासचिव श्री राम कलेवर प्रसाद सिंह ने उन्हे एक निर्भिक, साहसी एवं लोक प्रिय नेता की संज्ञा दी और कहा कि उनके निधन से काँग्रेस को अपूर्णीय क्षति हुई है जिसकी भरपाई निकट भविष्य में संभव नहीं है । इस अवसर पर अन्य लोगो के अलावे जिला कांग्रेस कमिटी के उपाध्यक्ष सत्य नारायण सिंह, विजय शंकर शर्मा, विशेश्वर राय, अमित कुमार सिंह, जय शंकर राय, अरुण कुमार सिंह, सरोज कुमार सिंह, शंभु प्रसाद सिंह, देवेन्द्र नारायण झा, नूर आलम सिद्दीकी, सरिता पासवान, रंजू कुमारी, मोईन अहमद खान, राम दयल सिंह, अशोक साह, सुभाष चन्द्र सिंह, शत्रुहन प्रसाद कुस्वाहा, मिथिलेश पोद्दार, कन्हैया चौधरी, नन्द कुमार चौधरी, हरे कृष्ण मण्डल, राम उद्गार महतो, कृष्ण मोहन सिंह, यमुना शर्मा, ई० अबू तनवीर, विनोद कुमार झा, उपेंद्र नारायण पोद्दार, आनंद झा, दिनेश नायक, दिनेश पूर्वे, नितीश पूर्वे, श्याम पूर्वे, आशुतोष कुमार, आदि लोगो ने भी उनके व्यक्तित्व एवं कृतित्व पर विस्तार से प्रकाश डाला ।