बिहार विधानसभाः विपक्ष के हंगामे के बाद अध्यक्ष ने किया 2 बजे तक के लिए सदन स्थगित

चर्चित बिहार बिहार विधानमंडल के शीतकालीन सत्र का आज आखिरी दिन है. इस बहुत छोटे सत्र में सिवाय हंगामा के और कुछ देखने को नहीं मिला. ऐसे में आज आखिरी दिन भी हंगामा हो रहा है. विपक्ष सदन की कार्यवाही को चलने नहीं दे रही है. बिहार विधानमंडल का शीतकालीन सत्र मात्र पांच दिनों का है और वहीं पांचवा दिन भी विपक्ष के हंगामे की भेट चढ़ चुका है. सदन शुरु होते ही विपक्ष के सदस्य हंगामा करने लगे. विरोध को देखते हुए विधानसभा अध्यक्ष ने दोपहर 2 बजे तक कार्यवाही को स्थगित कर दिया.

विपक्ष का कहना है कि अगर उनकी बात नहीं सुनी गई तो वे आज भी सरकार के खिलाफ नारेबाजी करेंगे. बता दें कि पिछले चार दिनों से शीतकालीन सत्र के दौरान विपक्ष सदन के बाहर लगातार हंगामा कर रहा है. इस दौरान ट्रेजरी घोटाला मामला, मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस, राज्य में बिगड़ते कानून व्यवस्था जैसे मुद्दे छाए रहे.

राजद समेत पुरे विपक्ष का कहना है कि उनकी बाते नहीं सुनी जा रही है. जिस कारण विपक्ष सरकार के खिलाफ नारेबाजी कर रही है. राजद ट्रेजरी घोटाला मामला, मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस, राज्य में बिगड़ते कानून व्यवस्था जैसे मुद्दे पर सरकार से लगातार सवाल पूछ रही है. आपको बता दें कि बिहार विधानमंडल के शीतकालीन सत्र का आज आखिरी दिन है. इस बहुत छोटे सत्र में सिवाय हंगामा के और कुछ देखने को नहीं मिला.

तेजस्वी समेत पूरे विपक्ष का राजभवन मार्च

बिहार में कानून व्यवस्था और घोटालों के मुद्दे पर गुरुवार की शाम राज्य के सभी विपक्षी दलों के नेताओं ने विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव के नेतृत्व में राजभवन मार्च किया. इसके बाद राज्यपाल लालजी टंडन से मुलाकात कर एक ज्ञापन सौंपा व अक्षम सरकार को बर्खास्त करने की मांग की. बिहार विधानसभा से निकले इस मार्च में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मदन मोहन झा, हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा के अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी और कांग्रेस के प्रेमचंद्र मिश्रा भी शामिल थे.

राज्यपाल से मिलकर राजभवन से बाहर निकले तेजस्वी यादव ने मीडिया से कहा कि आज बिहार के मुजफ्फरपुर बालिका आश्रयगृह में लड़कियों के दुष्कर्म के मामले में आरोपियों को बचाने में सरकार खुद लगी हुई है. दर्ज प्राथमिकी में आरोपियों पर सही धाराएं नहीं लगाई जा रही हैं. हाल यह है कि सर्वोच्च न्यायालय को इसके लिए सरकार को फटकार लगानी पड़ रही है.

ब्रजेश को लेकर तनातनी रही

शीतकालीन सत्र के चौथे दिन गुरुवार को विधानसभा की कार्यवाही शुरू होते ही विपक्ष के सभी सदस्यों ने मुजफ्फरपुर बालिका आश्रयगृह में लड़कियों के साथ हुए दुष्कर्म मामले को लेकर हंगामा मचाया. विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने इस मामले के मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर के मोबाइल फोन के कॉल डिटेल को सार्वजनिक करने की मांग की. इसके बाद विपक्षी सदस्य हंगामा करते रहे.