एण्ड टीवी के ‘संतोषी मां सुनाएं व्रत कथाएं‘ में क्या स्वाति इंद्रेश को बचा पाएगी?

0
136

एण्ड टीवी के ‘संतोषी मां सुनाएं व्रत कथाएं‘ में क्या स्वाति इंद्रेश को बचा पाएगी?

चर्चित बिहार :  एण्ड टीवी के ‘संतोषी मां सुनाएं व्रत कथाएं‘ ‘भक्त और भगवान‘ के बीच के सच्चे रिश्ते को दर्शाता है। शो के पिछले एपिसोड में, सभी दर्शकों ने कुछ नाटकीय मोड़ देखे जहां स्वाति (तन्वी डोगरा) इंद्रेश (आशीष कादयान) को जिन्दगी में आने वाली बाधाओं से सुरक्षित रखने के लिए पंडित जी से निर्देश के अनुसार घर छोड़ देती है। लेकिन ये नाटक यहीं पर खत्म नहीं होता। इन दोनों की जिंदगी में आगे कई और बाधाएं आने वाली हैं, इनका क्या परिणाम होगा, ये देखने के लिए आपको हमारे साथ जुड़े रहना होगा।

देव लोक में, पॉलोमी (सारा खान) जोकि इंद्रेश की गंभीर हालत से पूरी तरह वाकिफ है वो किसी न किसी तरह से उसकी जान लेने की साजिश रचने लगती है। जबकि पृथ्वीलोक पर स्वाति सभी देवताओं और संतोषी मां से इंद्रेश की जिंदगी बचाने के लिए मदद मांग रही है। स्वाति अपने पति को पॉलोमी के चंगुल से छुड़ाने के लिए कुछ भी करने को तैयार है, क्योंकि वो इंद्रेश की जान लेने पर अड़ी हुई है। हर कोई उसके ठीक होने को लेकर चिंतित है, जबकि सिंहासन स्वाति से बहुत ज्यादा गुस्सा है और इस दुर्घटना के लिए स्वाति को जिम्मेदार ठहराता है। ये सब सुनने के बाद, इंद्रेश के बिगड़ते स्वास्थ्य को देखकर स्वाति संतोषी से मां से मदद मांगती है और इंद्रेश के जीवन को बचाने के लिए मां से मदद की गुहार लगाती है.

आगामी एपिसोड के बारे में स्वाति की भूमिका निभाने वाली तन्वी डोगरा ने कहा, ‘‘वर्तमान ट्रैक में बहुत ज्यादा ड्रामा है जहां सिंह परिवार बेटे इंद्रेश को देखने के लिए हॉस्पिटल में है, जिसे एक ट्रक ने टक्कर मार दी है। स्वाति के ससुर सिंहासन इस दुर्घटना के लिए और कुंती को उनकी शादी के लिए सहमत करने पर उसे ही दोषी मानते हैं। इंद्रेश बहुत ही गंभीर स्थिति में है और पूरा परिवार उसके ठीक होने के लिए चिंतित है। क्या संतोषी मां बिना शक्तियों के स्वाति को इंद्रेश की जान बचाने के लिए उसका मार्गदर्शन कर सकेंगी?

सावित्री और सत्यवान के उदाहरण का हवाला देते हुए, संतोषी मां स्वाति को वट सवित्री का व्रत करने की सलाह देती है ताकि वह अपने पति की जिंदगी वापस ला सके। ढ़ेर सारे ड्रामे और भावनाओं से भरपूर, इस शो के आगामी एपिसोड में अपने पति की जिंदगी वापस पाने के लिए स्वाति की भक्ति को दिखाया गया है। जहां महादेव स्वाति की मदद न करने का फैसला करते हैं, वहीं संतोषी मां जरूरतमंद की मदद करने के लिए कदम आगे बढ़ाती हैं। क्या स्वाति वट सावित्री का व्रत पूरा कर पाएगी? क्या इंद्रेश खतरे से बाहर आ पाएगा?

और अधिक जानने के लिए, देखिए ‘संतोषी मां सुनाएं व्रत कथाएं‘, हर सोमवार से शुक्रवार,
रात 9 बजे, केवल एण्ड टीवी पर!

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments