अकबर पर 17वीं महिला ने लगाए आरोप, पूर्व मंत्री ने पहली बार कहा- रिश्ते सहमति से बने थे

0
125

चर्चित बिहार वॉशिंगटन.  अमेरिका में भारत की पत्रकार पल्लवी गोगोई ने एमजे अकबर पर यौन शोषण के आरोप लगाए हैं। पल्लवी ने बताया कि जयपुर में एक स्टोरी कवर करने के दौरान अकबर ने होटल में दुष्कर्म किया। इसको लेकर पल्लवी ने वॉशिंगटन पोस्ट में आर्टिकल लिखा है। वहीं, इन आरोपों पर अकबर ने कहा कि यह करीब 1994 की बात है, जब हमारे बीच आपसी सहमति से रिश्ता बना था। यह रिश्ता कई महीनों तक चला। अकबर की पत्नी मल्लिका ने भी पति का बचाव किया और पल्लवी के आरोपों को गलत बताया।

अकबर ने कहा, “यह रिश्ता मेरे पारिवारिक जीवन में कलह की वजह बना। बाद में इस रिश्ते का दुखद अंत हुआ।” मल्लिका ने बताया, “तुशिता पटेल और पल्लवी गोगोई अकसर हमारे घर पर आया करती थीं, हमारे साथ खाना खातीं और ड्रिंक करती थीं। लेकिन उनके चेहरे पर कभी यौन उत्पीड़न पीड़िता का डर नहीं दिखा। मुझे नहीं पता कि पल्लवी के झूठ बोलने की क्या वजह है।”

अकबर पर 16 महिलाओं ने यौन शोषण के आरोप लगाए थे। आरोपों की शुरुआत 8 अक्टूबर को प्रिया रमानी के एक ट्वीट के बाद हुई थी। 17 अक्टूबर को अकबर ने विदेश राज्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था।

22 साल की उम्र में एशियन एज में काम करने का मौका मिला
पल्लवी फिलहाल अमेरिका के नेशनल पब्लिक रेडियो (एनपीआर) में चीफ बिजनेस एडिटर हैं। उन्होंने लिखा कि जब एशियन एज अखबार में काम करने का मौका मिला तो उस वक्त मैं महज 22 साल की थी। हम लोग कॉलेज से निकले ही थे और जर्नलिज्म की बेसिक जानकारियां भी नहीं थीं। अकबर उस वक्त मशहूर एडिटर थे और उनकी दो किताबें आ चुकी थीं। मैं उनकी भाषाशैली से काफी प्रभावित थी और उनके जैसा ही लिखना चाहती थी। 23 साल की उम्र में मुझे एडिटोरियल पेज का इन्चार्ज बनाया गया। इसके लिए मुझे राजनीति के दिग्गजों जसवंत सिंह, अरुण शौरी और नलिनी सिंह को फोन करना होता था।

पेज दिखाने गई तो चूम लिया
पल्लवी के मुताबिक- बात 1994 की है। मैं अकबर के चेंबर में एडिटोरियल पेज दिखाने गई। चेंबर का दरवाजा अमूमन बंद रहता था। मुझे उम्मीद थी कि वह कोई अच्छी हेडलाइन देंगे। उन्होंने मेरी कोशिश की सराहना की और अचानक मुझे चूम लिया। मैं अवाक रह गई। मैं तुरंत ऑफिस से निकल गई। मुझे शर्म आ रही थी। मेरी सहेली तुषिता को आज भी मेरा वो चेहरा याद है। उसने मुझसे पूछा तो मैंने तुरंत ही उसे सब बता दिया। उस वक्त तुषिता अकेली व्यक्ति थी जिसे मैंने यह बताया।

दूसरी घटना मुंबई में हुई
पल्लवी लिखती हैं- घटना के कुछ महीने बाद मुझे मुंबई में मैगजीन लॉन्च के लिए जाना था। वहां अकबर ने मुझे ताज होटल के अपने कमरे में लेआउट देखने के लिए बुलाया। यहां पर उन्होंने मुझे फिर से चूमा। इस बार मैंने उन्हें धक्का दे दिया। मैं भागने लगी तो उन्होंने मेरे गाल पर खरोंच भी मारी। शाम को मैंने दोस्त को खरोंच की वजह स्लिप होना बताया। दिल्ली वापस आने पर अकबर ने मुझे धमकी दी कि अगर अगली बार मैंने उन्हें रोका तो नौकरी से निकाल देंगे। हालांकि मैंने अखबार नहीं छोड़ा।

जयपुर में रेप किया
पल्लवी ने लिखा- मैं सुबह आठ बजे किसी और के आने से पहले ऑफिस पहुंचती थी। मेरा उद्देश्य रहता था कि 11 बजे तक एडिटोरियल पेज निपटाकर रिपोर्टिंग पर निकल जाऊं। मुंबई की घटना के बाद मुझे एक दूरदराज के गांव में भेजा गया। वहां एक कपल को कुछ लोगों ने फांसी पर लटका दिया था क्योंकि वो अलग-अलग जाति के थे। मेरा असाइनमेंट जयपुर में खत्म हुआ। तभी अकबर ने कहा कि वह स्टोरी पर जयपुर में ही डिस्कस करेंगे। उन्होंने मुझे होटल के कमरे में बुलाया। मैंने उनसे लड़ाई तक की। उन्होंने मेरे कपड़े फाड़े और रेप किया। मैंने इस बारे में पुलिस से शिकायत भी नहीं की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here