सुप्रिया के सच के बाद भोजपुरी सिनेमा उद्योग में तहलका

सुप्रिया के सच के बाद भोजपुरी सिनेमा उद्योग में तहलका

चर्चित बिहार :  भोजपुरी के मशहूर संगीतकार धनंजय मिश्रा की मौत के बाद पूरे भोजपुरी इंडस्ट्री को कटघरे में खड़ा करने वाली अभिनेत्री सुप्रिया अंश चतुर्वेदी ने गुरुवार को कई राष्ट्रीय चैनलों पर आकर भोजपुरी सिनेमा के कई बड़े चेहरे को बेनकाब किया. सुप्रिया ने खुलेआम पूरी इंडस्ट्री के निर्माता निर्देशकों और अभिनेताओं को भी कटघरे में खड़ा किया अभिनेत्रियों के यौन शोषण पर खुल कर बोली. साथ ही साथ अपने साथ हुए कई अनुभवों को भी मीडिया के साथ शेयर किया सुप्रिया ने यह भी दावा किया है कि उनके पास कई बड़े लोगों के खिलाफ पुख्ता प्रमाण है.

उन्हें फर्क नहीं पड़ता कि इंडस्ट्री में उन्हें काम मिलेगा या नहीं मिलेगा और वे इंडस्ट्री की गंदगी को जनता के सामने लाना चाहती हैं जो लोग सोशल मीडिया पर अपना चेहरा चमकाते हैं उनके पीछे का काला सच काफी घिनौना है. सुप्रिया ने कहा कि चुकी भोजपुरी काफी न इंडस्ट्री है पर गंदगी व सुशांत खासकर अभिनेत्रियों का यह सबसे ज्यादा होता है कई स्तरों पर फिल्मों में काम पाने के लिए लड़कियों को समझौता करना पड़ता है.

सुप्रिया ने कहा कि शुरुआत में लड़कियों को लगता है कि एक दो बार ऐसे करने से उन्हें फिल्मों में काम मिल जाएगा या आगे खुद को स्थापित कर लेंगी लेकिन बाद में वही लोग पूरे इंडस्ट्री में इस तरह की चीजों को प्रचारित कर देते हैं उसके बाद हर एक नया निर्माता और निर्देशक उन लड़कियों से फिल्म में काम देने के बहाने कुछ और ही चाहने लगता है जिसे जाने अनजाने में उन्हें पूरा करना पड़ता है हालांकि सुप्रिया ने यह भी स्वीकार किया कि इन्डस्ट्री में अच्छे लोग भी हैं और वे सिर्फ गिने-चुने अधिकांश लोग ऊपर से कुछ और है अंदर से कुछ और.

सुप्रिया ने बताया कि भोजपुरी सिनेमा में चलती तो सिर्फ नायक की ही होती है और जो भी कर्म कुकर्म होता है उसमें नायकों की भी सहभागिता होती है फिल्मों में तानाशाह की भूमिका में नायक होते हैं वही डिसाइड करते हैं की हीरोइन कौन होगी बाकी करेक्टर कौन होंगे यहां तक कि अब गीतकार म्यूजिक डायरेक्टर नायक ही डिसाइड करते हैं और अगर किसी लड़की के साथ कुछ गलत होता है.

तो उसकी मदद करने के बजाय वह भी उस में मजा लेते हैं. उन्होंने कहा कि जिन लड़कियों के साथ गलत होता है अगर हिम्मत करके सामने आना चाहती हैं तो बाकी लोग उसे इतना डरा धमका देते हैं कि वह चाह कर भी कुछ नहीं बोल पाती और इस तरह से शोषण की कहानी दबकर रह जाती है पर वे चुप नहीं बैठने वाली आने वाले दिनों में पुख्ता प्रमाण के साथ कई बड़े चेहरे को बेनकाब करेंगी