​गंगा का जलस्तर 10 सेमी और बढ़ा, अंटा घाट के पास रिवर फ्रंट पर पानी, बिंद टोली के रास्ते बंद

पटना. गंगा का जलस्तर लगातार बढ़ रहा है। पटना में मंगलवार को 10 सेंटीमीटर पानी बढ़ा है। क्लेक्ट्रेट घाट से आगे अंटा  घाट के पास रिवर फ्रंट मार्ग पानी चढ़ गया है, जिससे इसपर चलना बंद हो गया है। फिलहाल समाहरणालय से अंटा घाट तक टहल सकते हैं। क्लेक्ट्रेट  घाट पर तीन सीढ़ी नीचे पानी है। उधर, बिंद टोली पानी से पूरी तरह घिर चुका है। यहां पहुंचने के लिए कोई मार्ग नहीं है। कुर्जी से गंगा रिसोर्ट की बाउंड्री के उत्तर मिट्टी के पतले रास्ते से पूरब किनारे लोग पहुंच रहे हैं। यहां थोड़ी से सूखी जमीन है। यहां से बिंद टोली पहुंचने के लिए नाव का सफर शुरू होता है। किराया 5 रुपए है। पानी बढ़ने के साथ ही नाव का किराया दोगुना हो जाएगा। कारण, बिंद टोली से चलकर नाव कुर्जी मोड़ के पास वाले मार्ग यानी गंगा रिसोर्ट के पश्चिमी गेट पर पहुंचेगी। बिंद टोली निवासी सीताराम महतो ने कहा कि सरकारी नाव की व्यवस्था नहीं होने के कारण किराया चुकाना मजबूरी है। किराया नहीं है, तो कुर्जी-दीघा मार्ग पर रात गुजारनी पड़ेगी।
स्कूल नहीं जा रहे बच्चे, बीमार पड़ने पर अस्पताल पहुंचना मुश्किल 
समाहरणालय स्थित घाट पर गंगा को पहुंचाने के लिए कुर्जी से गंगा चैनल बनाया गया था। लेकिन, गर्मी के दिनों में गंगा चैनल सूख गया। स्थानीय लोगों की पहल से गंगा चैनल में मिट्टी भरकर बिंद टोली पहुंचने के लिए रास्ता बनाया गया था। बाढ़ आते ही यह रास्ता ध्वस्त हो गया है। यहां स्कूल व अस्पताल नहीं है। अभी पानी की वजह से बच्चों की पढ़ाई बंद है। बीमार होने पर मरीजों को अस्पताल पहुंचाना मुश्किल है। स्थानीय निवासी इंदु देवी ने कहा कि सरकार ने दीघा से हटाकर गंगा के पेट में बसा दिया है। गंगा मैया कि कृपा जबतक रहेगी तब तक चैन की नींद सो सकेंगे। जब कृपा नहीं रहेगी तो सड़क किनारे रात गुजारनी पड़ेगी। वहीं बिंद टोली में क्लिनिक चलाने वाले राजापुर निवासी डॉ. अारके सिंह ने कहा कि चार माह तक बिंद टोली पानी से घिरा रहता है।
कहां कितना जलस्तर 

स्थान खतरे का निशान अभी  जलस्तर हालात
गांधी घाट 48.60 मीटर 48.89 मीटर 9 सेमी ऊपर
दीघा
50.45 मीटर 50.07 मीटर 38 सेमी नीचे
हथीदह
41.76 मीटर 41.86 मीटर 10 सेमी ऊपर
पुनपुन 50.60 मीटर 50.22 मीटर 38 सेमी नीचे