मुंगेर में बाढ़ के पानी से घिरे कई गांव

पटना. गंगा के जलस्तर में लगातार हो रही वृद्धि के कारण बरियारपुर प्रखंड के आधा दर्जन गांव बाढ़ के पानी से घिर गए हैं। बाढ़ के पानी से घिरकर प्रखंड के आधा दर्जन गांव टापू में तब्दील हो गए हंै। प्रखंड के कल्याण टोला पंचायत के हरिजन कल्याणटोला, कचहरी टोला व एकाशी गांव के अलावा ऋषिकुण्ड हाॅल्ट के कटाव विस्थापित की बस्ती पूरी तरह से बाढ़ के पानी से घिर गई है। गांव जाने वाली सड़क पर दो से तीन फीट पानी आ चुका है। चारों ओर बाढ़ के पानी से घिर जाने के कारण अपने घर तक पहुंचने में भी काफी परेशानी हो रही है। बावजूद अबतक नाव की व्यवस्था नहीं हो पाई है। जल संसाधन विभाग के अनुसार नदियों के जलस्तर में बढ़ोतरी का असर तटबंधों पर दिख रहा है। रात्रि पेट्रोलिंग तेज कर दी गई है। इंजीनियरों को तटबंधों की 24 घंटे निगरानी के लिए कहा है।

सारण के आमी बांध पर मंडरा रहा खतरा
छपरा जिले में बाढ़ का कहर शुरू हो गया है। जहां गंगा के जल में भारी बढ़ोत्तरी के साथ सोन नदी में उफान के कारण सारण के कई प्रखंडों में बाढ़ की संभावना प्रबल हो गई  है। दिघवारा प्रखंड के आमी, बोधा छपरा सहित कई गांवों पर बाढ़ का खतरा मंडराने लगा है। पानी फोर लेन तक पहुंच गया। गंगा के भयावह रूप को देख आसपास के गांव मे बाढ़ को लेकर दहशत देखा जा रहा है।