पटना चर्चित बिहार: शेल्टर होम में दो लड़कियों की मौत, इनमें एक नाबालिग; पुलिस-प्रशासन को 36 घंटे बाद मिली जानकारी

पटना.राजीव नगर इलाके में आसरा शेल्टर होम में रहने वाली दो लड़कियों की मौत हो गई। इनमें से एक नाबालिग है। पुलिस और प्रशासन को इस घटना की जानकारी 36 घंटे बाद मिली। इन लड़कियों को शुक्रवार रात अस्पताल ले जाया गया था। पटना मेडिकल कॉलेज (पीएमसीएच) के अधीक्षक डॉ. राजीव रंजन का कहना है कि भर्ती किए जाने से पहले ही इन लड़कियों की मौत हो गई थी। एसएसपी मनु महाराज ने कहा- फोन पर इस घटना की जानकारी रविवार सुबह मिली। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने पर वजह का खुलासा हो सकेगा। फिलहाल शेल्टर होम की दो महिलाओं को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया है।

शवों का पोस्टमॉर्टम शनिवार को किया गया और इसकी जानकारी पुलिस को नहीं दी गई। जिसके बाद घटना को लेकर सवाल उठ रहे हैं। अभी यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि शेल्टर होम प्रबंधन ने पुलिस-प्रशासन को जानकारी दी या किसी अन्य माध्यम से इस घटना का खुलासा हुआ। डीएम कुमार रवि ने मेडिकल बोर्ड गठित किया है। यह बोर्ड एक लड़की के शव का फिर से पोस्टमार्टम कर रिपोर्ट तैयार करेगा।

उल्टी-दस्त की शिकायत के बाद अस्पताल ले गए: शेल्टर होम के एक कर्मचारी ने बताया कि शुक्रवार को उल्टी, दस्त के बाद दोनों लड़कियों को रात 10 बजे पीएमसीएच में भर्ती कराया गया था। इलाज के दौरान दोनों की मौत हो गई।संस्था के सचिव चिरंतन का कहना है कि लड़कियों की मौत के बाद समाज कल्याण पदाधिकारी को फोन करके घटना की जानकारी दी गई थी।

शेल्टर होम से भागने की कोशिश की थी : जिस रात दो लड़कियों की मौत हुई, उसी दिन यानी शुक्रवार को ही 3 लड़कियों ने आसरा शेल्टर होम से भागने की कोशिश की थी। पुलिस और समाज कल्याण विभाग के अधिकारी भी शेल्टर होम की जांच करने गए थे। शेल्टर होम जाने वाली एक संस्था की महिला कार्यकर्ता ने बताया कि यहां लड़कियों को ठीक से नहीं रखा जाता। कई लड़कियों के बाल कटवा दिए गए थे।