आइपीएल सट्टेबाजी का पैसा नहीं देने पर दोस्तों ने ईट से कूचकर मार डाला

चर्चित बिहार पटना (फुलवारीशरीफ)। आइपीएल सट्टेबाजी में जीतने के बाद पैसा मागने पर दोस्तों ने बीए पार्ट-2 के छात्र की ईट से कूचकर हत्या कर दी। छात्र की पहचान पत्रकार नगर थाना के बुद्धा कॉलोनी के नजदीक किराए के मकान में रहने वाले और मूल रूप से पहाड़ीचक सोनपुर सारण निवासी रवि भूषण के पुत्र सुमंत भूषण (20 वर्ष) के रूप में हुई है। सूचना पाकर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया।

जानकारी के अनुसार, सुमंत भूषण और इलाहीबाग निवासी कुंदन कुमार के बीच आइपीएल मैच के दौरान 55 हजार का सट्टा लगा था। सट्टेबाजी में जीते पैसे के लिए सुमंत कुछ दिनों से कुंदन पर दबाव बना रहा था। रविवार की रात सुमंत भूषण इलाहीबाग स्थित कुंदन के घर पहुंच गया और जीते पैसा मागने लगा। इसको लेकर दोनों के बीच झगड़ा भी हुआ। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि झगड़ा के दौरान सुमंत भूषण ने कुंदन के साथ मारपीट भी की। इसपर कुंदन ने सुमंत को सोमवार की सुबह पैसा लेने के लिए इलाहीबाग लोहा गोदाम के नजदीक बुलाया। जहा पहले से कुंदन और उसके दोस्त मौजूद थे। सुबह पाच बजे सुमंत इलाहीबाग पहुंच गया। कुंदन पैसा देने के बहाने पहले एक अपार्टमेंट के सुनसान जगह पर ले गया। जहां पीछे से कुंदन और उसके दोस्त जितेंद्र ने सुमंत पर ईट से ताबड़तोड़ हमला कर दिया।

वहीं अपार्टमेंट की छत पर से एक सुरक्षा गार्ड की नजर इनलोगों पर पड़ी तो शोर मचाने लगा। सुरक्षा गार्ड का शोर सुनकर स्थानीय लोग पहुंच गए और हत्या में शामिल कुंदन व जितेंद्र को पकड़ लिया और जमकर धुनाई कर दी। सूचना पाकर पहुंची पुलिस ने दोनों आरोपित को भीड़ के कब्जे से निकाला। पुलिस पुछताछ में दोनों ने अपना जुर्म कबूल कर लिया।

सुमंत भूषण दो बार जा चुका था जेल

थानेदार राजेश कुमार ने बताया कि बीए पार्ट-2 में पढ़ाई कर रहे सुमंत भूषण का भी संगत गलत लोगों के साथ था। वह स्मैक, सुलेशन और शराब पीने का आदि था। नशा सेवन के आरोप में दो बार जेल भी जा चुका है। पहले सुमंत भूषण, कुंदन व जितेंद्र तीनों दोस्त थे और आइपीएल मैच में सट्टा लगाया करते थे।

प्रत्यक्षदर्शियों ने पहले समझा मामूली झगड़ा

जब कुंदन और जितेंद्र मिलकर सुमंत को पीट रहे थे तो घटनास्थल के समीप से गुजर रहे कुछ लोगों की नजर पड़ी तो सभी ने इसे मामूली झगड़ा समझ नजरअंदाज करते हुए आगे बढ़ गए। जैसे ही आसपास के लोगों को मालूम हुआ कि दोस्तों ने छात्र की पीटकर हत्या कर दी है तो लोग एकजुट हो गए और दोनों आरोपितों को दबोच लिया।