प्रमोद प्रेमी,अंजना सिंह,पूनम दुबे की फिल्‍म ‘मुन्‍ना मवाली’ को बिहार में मिली जबरदस्‍त ओपनिंग, सभी शो हाउसफुल

चर्चित बिहार सिंगर – एक्‍टर प्रमोद प्रेमी, भोजपुरिया हॉट केक अंजना सिंह और खूबसूरत पूनम दुबे की फिल्‍म ‘मुन्‍ना मवाली’ आज बिहार में रिलीज हो चुकी है और खबर है कि फिल्‍म को पहले ही दिन जबरदस्‍त रेस्‍पांस मिला है। फिल्‍म के सभी शो हाउसफुल चल रहे हैं। वितरकों का मानना है कि फिल्‍म ‘मुन्‍ना मवाली’ आने वाले दिनों में और बेहतर कारोबार करेगी। पहले ही दिन जिस तरह लोगों की भीड़ उमड़ी है, उससे साफ हो गया है फिल्‍म सुपर हिट होने वाली है।

मालूम हो कि फिल्‍म ‘मुन्‍ना मवाली’ का निर्माण पप्‍पू पांडेय ने किया है। पहले इस फिल्‍म में खेसारीलाल यादव को साइन किया गया था, मगर बाद में किसी कारणवश प्रमोद प्रेमी ने उनकी जगह ले ली। फिल्‍म के रिलीज से पहले जानकारों का मानना था कि इससे फिल्‍म को फर्क पड़ेगा, मगर पप्‍पू पांडेय ने साफ कह दिया था कि फिल्‍म में प्रमोद प्रेमी बेहतर एक्‍टर हैं और ये फिल्‍म चलेगी। पहले दिन ही फिल्‍म के मिले रिस्‍पांस से ये साबित भी हो गया। वहीं, सिनेमाघरों से बाहर आ रहे दर्शकों ने भी बताया कि फिल्‍म की कहानी और गाने सुपरहिट हैं। ‘मुन्‍ना मवाली’ एक साफ सुथरी फिल्‍म है और प्रमोद के साथ अंजना सिंह व पूनम दुबे का अभिनय भी लाजवाब है।

उधर, फिल्‍म ‘मुन्‍ना मवाली’ के निर्देशक रवि सिन्‍हा ने कहा कि हमें जैसी उम्‍मीद थी, उसके हिसाब से फिल्‍म दर्शकों को पसंद आ रही है। यह पूरी टीम के लिए अच्‍छी खबर है। दर्शकों को मेरा काम पसंद आ रहा है, इसके लिए मैं उनका आभार व्‍यक्‍त करता हूं। साथ ही उनसे कहना चाहूंगा कि वे उन लोगों को भी इस फिल्‍म के बारे में बतायें, जिन्‍होंने अब तक ‘मुन्‍ना मवाली’ नहीं देखी है।

बता दें कि सिने प्राइम वर्ल्‍ड के एसोसिएशन और द सिनेमा प्रस्‍तुत भोजपुरी फिल्‍म ‘मुन्‍ना मवाली’ में प्रमोद प्रेमी, अंजना सिंह, पूनम दुबे, मनोज टाइगर,नागेश मिश्रा, अयाज खान मुख्‍य भूमिका हैं। फिल्‍म के निर्देशक रवि सिन्‍हा और निर्माता पप्‍पू पांडेय हैं। फिल्‍म की कहानी राजेश पांडेय ने लिखी है ।जबकि डॉ अलोक रंजन पांडेय के कंसेप्‍ट पर बन रही फिल्‍म ‘मुन्‍ना मवाली’ के खूबसूरत गीत डॉ सागर, सुमित चंद्रवंशी,संतोष पुरी, सुधाकर स्‍नेह‍ औरअरूण बिहारी ने लिखे हैं, जिसमें संगीत सुधाकर स्‍नेह ने दिया है। स्‍टोरी रेखा पांडेय, स्‍क्रीनप्‍ले राजेश पांडेय और डायलॉग सुरेंद्र मिश्रा का है। डीओपी जहांगीर सैयद, एडिटिंग गोविंद दुबे, एक्‍शन इकबाल सुलेमान, कोरियोग्राफी रामदेवन और रिकी गुप्‍ता का है।

विश्व फिजियोथेरेपी दिवस के उपलक्ष्य में आज 7-09-18 को साई फिजियोथेरेपी (डा Rajeev Kumar Singh )के प्रांगण में दिव्यांग हेल्थ और जागरूकता कैम्प का आयोजन किया गया

चर्चित बिहार विश्व फिजियोथेरेपी दिवस के उपलक्ष्य में आज 7-09-18 को साई फिजियोथेरेपी (डा Rajeev Kumar Singh )के प्रांगण में दिव्यांग हेल्थ और जागरूकता कैम्प का आयोजन किया गया । इस कैम्प में फिट रहने की विधि, विकलांगता से जूझने के लिए जरूरी व्यायाम, और साथ ही फिजियोथेरपी के महत्व पर चर्चा हुई। दिव्यांग भी हमारे समाज के अद्वितीय अंग हैं, इनका सम्मान हम सब का दायित्व l इस अवसर पर संस्था के तरफ से दिव्यांग मित्रों को सम्मानीत भी किया गया और उनसे अनुभव सांझा किया और उनकी परेशानियों को समझने का प्रयत्न किया गया ताकि भविष्य में उनके लिए और अधिक उचित व्यस्था की जा सके। दिव्यांगो को व्हील चेयर संस्थान के तरफ से दिया गया l
मुख्य अतिथि के तौर पर डा राणा एस पी सिंह उर्फ राणा संजय ,साई संस्थान के डाईरेक्टर डा राजीव कुमार सिंह ,ओरो डेंटल के संस्थापक आशुतोष त्रिवेदी जी, ओमप्रकाश जी, समाजसेवी संस्था भारतीय विकास मिशन के संयोजक भूषण सिंह जी, शिल्पी शर्मा अंतराष्ट्रीय पाराओलिंपिक खिलाड़ी अनुराग चन्द्रा जी सहित अन्य गण्यमान लोग उपस्थित रहें। अंतराष्ट्रीय दिव्यांग खिलाड़ी तथा सियाचिन फतह करने वाली अनुराग चन्द्र और संतोष कुमार मिश्रा की जोड़ी, राष्ट्रीय खिलाड़ी मनीष कुमार, अरविंद कुमार, सुधीर कुमार,राज्यस्तरीय खिलाड़ी आशिष रंजन सहित अनेक दिव्यांग उपस्थित थे

मंच संचालन अंकिता सिंह द्वारा किया गया l
“हमने यूँ ही नहीं पाई है ये सफलता
ठोकरों ने ही दी है हमें ये सफलता
अब कोशिश में हैं आसमान छूने की
गर कर सकते हो तो इतना करो
मत राह की हमारी रुकावट बनो
मत अपंगता का अहसास कराओ
एक बार हम पर भी अपना विश्वास दिखाओ
फिर देखोगे तुम आसमाँ में
चमकते सितारों में बढ़ते सितारे
एक नाम हमारा भी बुलंद होगा
चाँद की रौशनी में दमकता
सितारों का एक नया घर होगा “

शिव सेना अखंड भारत,बिहार के प्रदेश अध्यक्ष बने संजय कुमार

चर्चित बिहार शिव सेना अखंड भारत के राष्ट्रीय अध्यक्ष ठाकुर गौरव राणा ने बिहार पटना कंकड़बागनिवासी ठाकुर संजय कुमार पप्पू जी को राष्ट्र हित जन सेवा में किये जा रहे सराहनीय कार्यो को देखते हुए इन्हें शिव सेना अखंड भारत का बिहार का प्रदेश अध्यक्ष बनाया ,श्री संजय कुमार ने इसके लिए राष्ट्रीय अध्यक्ष ठाकुर गौरव राणा को धन्यवाद दिया,साथ ही संजय कुमार के बनने पे बधाई देने वालो में हनुमान नगर निवासी राजेश कुमार सिंह, शशि सिंह, विजय सिंह चर्चित बिहार पत्रिका के संपादक अभिजीत सिंह सहित आदि लोगो ने उन्हें बधाई दिया संजय कुमार का कहना है कि मैं हिन्दू समाज देश व धर्म हित के लिए कार्य करते रहेगें, और इस संघटन को बिहार में मजबूत करेंगे।

बाढ़ से परेशान बिहार ने मध्यप्रदेश से कहा-पानी धीरे-धीरे छोड़िए, मध्यप्रदेश भी ऐसा करने को तैयार

पटना. बिहार में गंगा और सोन के किनारे बसी आबादी पर भारी बाढ़ का खतरा मंडरा रहा है। दरअसल मध्यप्रदेश बाणसागर डैम में जलस्तर बढ़ने पर 5.5 लाख से 7 लाख क्यूसेक तक पानी छोड़ रहा है। शुक्रवार की रात से पानी छोड़ने की शुरुआत हो गई। इतनी मात्रा में एकसाथ पानी आने पर बिहार में भारी तबाही हो सकती है। हालात की इस गंभीरता को देखते हुए जल संसाधन विभाग के प्रधान सचिव त्रिपुरारि शरण ने मध्यप्रदेश में अपने समकक्ष अधिकारियों से बात करके खतरे को कम करने का प्रयास किया। उनके अनुरोध पर मध्यप्रदेश शासन ने एक बार की बजाए कई चरण में, यानी धीरे-धीरे पानी छोड़ने का भरोसा दिया है।

गंगा पहले से उफान पर

बाणसागर के पानी से बिहार में खतरा इसलिए है, चूंकि यहां गंगा का जलस्तर पटना, भोजपुर और भागलपुर में पहले से खतरे के निशान से ऊपर है। सोन का पानी आखिर में गंगा में आकर मिलता है। वैसे, थोड़ी राहत की बात है कि अभी सोन में बहुत पानी नहीं है। संभावित खतरे के मद्देनजर आपदा प्रबंधन व जल संसाधन विभाग ने अफसरों और राहत, बचाव दस्ते को हाई अलर्ट पर रखा हुआ है।

बाणसागर का हाल | बाणसागर में जलस्तर 340.71 मीटर है। इसका पूर्ण जलभराव स्तर 341.54 मीटर है। जलस्तर प्रति घंटे 7 सेमी बढ़ रहा है। बाणसागर बांध संभाग ने जानकारी दी कि शुक्रवार की रात 10 बजे के बाद

भाजपा राष्ट्रीय कार्यकारिणी: शाह का कार्यकाल जनवरी तक, लेकिन लोकसभा चुनाव तक अध्यक्ष बने रहेंगे

नई दिल्ली. भारतीय जनता पार्टी की दो दिवसीय राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक शनिवार को अंबेडकर इंटरनेशनल सेंटर में शुरू हुई। यहां 2019 लोकसभा चुनाव की रणनीति और मुद्दों पर चर्चा होगी। चर्चा का फोकस दलितों पर रहेगा। पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह ने दावा किया कि भाजपा को आगामी लोकसभा चुनाव में 2014 से भी ज्यादा सीटें हासिल होंगी। उन्होंने बैठक में अजेय भाजपा का नारा दिया। अध्यक्ष के तौर पर शाह का कार्यकाल जनवरी में खत्म हो रहा है, लेकिन वह लोकसभा चुनाव तक इस पद पर बने रहेंगे।

शाह ने कहा कि एससी/एसटी के मुद्दे पर असमंजस पैदा करने की कोशिशों का लोकसभा चुनाव पर असर नहीं पड़ेगा। हमारे संकल्प की शक्ति को कोई पराजित नहीं कर सकता। हमारे पास दुनिया का सबसे लोकप्रिय नेता है। हम दोबारा पूर्ण बहुमत से सत्ता में आएंगे। बैठक के पहले दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, पार्टी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी, केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह, नितिन गडकरी, अरुण जेटली, सुषमा स्वराज, सुरेश प्रभु भी शामिल हुए।

 

इन मुद्दों पर फोकस : रिपोर्ट्स के मुताबिक, बैठक के दौरान मोदी सरकार के कामकाज, सामाजिक न्याय और आर्थिक सफलता पर चर्चा की जाएगी। इसके अलावा एससी-एसटी एक्ट, दलित, तेल की बढ़ती कीमतों, एनआरसी, आर्थिक वृद्धि पर भी चर्चा होगी। माना जा रहा है कि दलितों पर फोकस के चलते ही बैठक अंबेडकर इंटरनेशनल सेंटर में रखी गई है।

5 राज्यों के विधानसभा चुनाव पर भी नजर : बैठक में अगले लोकसभा चुनाव के साथ पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों की रणनीति पर चर्चा हो रही है। चुनावी राज्यों में मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान, मिजोरम और तेलंगाना शामिल हैं। अमित शाह ने पार्टी पदाधिकारियों से कहा कि वे लोकसभा और विधानसभा चुनाव में जीत के लिए संकल्प लें, क्योंकि इस शक्ति को कोई नहीं हरा सकता है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार को बैठक में शामिल होंगे। वे पार्टी पदाधिकारियों को संबोधित भी करेंगे। बैठक में सभी राज्यों के पदाधिकारी और शीर्ष नेतृत्व शामिल हो रहा है।

तेलंगाना में जल्द शुरू होगा अभियान : अमित शाह तेलंगाना विधानसभा चुनाव के लिए 15 सितंबर को अभियान शुरू करेंगे। भाजपा नेता एन रामचंद्र राव ने बताया कि इस मौके पर महबूबनगर में एक विशाल जनसभा रखी जाएगी। इसमें पार्टी के राष्ट्रीय नेताओं और भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों के शामिल होने की उम्मीद है। भाजपा हर विधानसभा क्षेत्र में रैली करेगी और हर सीट के लिए अलग-अलग घोषणा पत्र जारी करेगी।

रिटायर्ड कमिश्नर हत्या केस का खुलासा: पति को पीट रही थी पत्नी, बचाने आए केयर टेकर ने दबाया गला

पटना.  गुरुवार की रात लघु सिंचाई विभाग के रिटायर्ड कमिश्नर हरेंद्र प्रसाद सिंह और उनकी पत्नी स्वप्ना दास गुप्ता के हत्या के मामले में पुलिस ने खुलासा किया है। शनिवार दोपहर को पटना के एसएसपी मनु महाराज ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि केयर टेकर शोएब ने कमिश्नर की पत्नी की हत्या की थी।

ति हरेंद्र को पीट रही थी स्वप्ना
मनु महाराज ने बताया कि गिरफ्तार केयर टेकर से हुई पूछताछ और घटना स्थल से मिले साइंटिफिक एविडेंस से पुलिस प्रथम दृष्टया इस नतीजे पर पहुंची है कि कमिश्नर की पत्नी की हत्या केयर टेकर ने की थी। गुरुवार की रात तीज में होने वाले खर्च को लेकर पति-पत्नी के बीच झगड़ा हुआ था। दोनों पहले भी झगड़ते थे। पति हरेंद्र प्रसाद की चीख सुन बाहर सोफा सेट कर रहा केयर टेकर शोएब घर के अंदर गया था। शोएब ने देखा कि हरेंद्र जमीन पर पड़े हैं। उनका सिर फट गया था और पत्नी स्वप्ना दास उन्हें पीट रही थी। इसी पिटाई के चलते हरेंद्र की मौत हुई।

शोएब ने दबा दिया स्वप्ना का गला
शोएब ने हरेंद्र को बचाने की कोशिश की तो स्वप्ना ने उस पर हमला कर दिया। शोएब और स्वप्ना के बीच हाथापाई हुई। इसी दौरान शोएब ने स्वप्ना का गला दबाया और जमीन पर गिरा दिया। स्वप्ना के दिल में पेस मेकर लगा था। जमीन पर गिरते ही उसकी भी मौत हो गई।

खून लगे शर्ट से पकड़ा गया केयर टेकर
हत्या की सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस को इस बात का अंदेशा हो गया था कि घर के अंदर के व्यक्ति ने ही वारदात को अंजाम दिया है। पुलिस को शोएब के रूम से एक शर्ट मिला था, जिसपर खून के दाग थे। पूछे जाने पर शोएब ने बताया कि ये रंग के निशान हैं, लेकिन एफएसएल की टीम ने जांच के बाद बता दिया कि ये रंग नहीं इंसानी खून के दाग हैं। इसके बाद कराई से हुई पूछताछ में शोएब टूट गया और उसने अपना गुनाह कबूल करते हुए पूरे वारदात के बारे में बताया।

बेडरूम से मिले थे दोनों के शव
हरेंद्र और उनकी पत्नी स्वप्ना के शव उनके घर बुद्धा कॉलोनी के दुजराचक, मुर्गा फार्म गली स्थित बी-6 के प्रथम तल्ले के बेडरूम से मिले थे। सिर व चेहरे पर जख्म के निशान थे। हरेंद्र ने दो शादियां की थीं। पहली पत्नी कंकड़बाग में रहती है। उनसे दो बेटे हैं, जबकि दूसरी पत्नी स्वप्ना से एक बेटा ब्रजेंद्र प्रसाद सिंह और एक बेटी गेली

मुंगेर में बाढ़ के पानी से घिरे कई गांव

पटना. गंगा के जलस्तर में लगातार हो रही वृद्धि के कारण बरियारपुर प्रखंड के आधा दर्जन गांव बाढ़ के पानी से घिर गए हैं। बाढ़ के पानी से घिरकर प्रखंड के आधा दर्जन गांव टापू में तब्दील हो गए हंै। प्रखंड के कल्याण टोला पंचायत के हरिजन कल्याणटोला, कचहरी टोला व एकाशी गांव के अलावा ऋषिकुण्ड हाॅल्ट के कटाव विस्थापित की बस्ती पूरी तरह से बाढ़ के पानी से घिर गई है। गांव जाने वाली सड़क पर दो से तीन फीट पानी आ चुका है। चारों ओर बाढ़ के पानी से घिर जाने के कारण अपने घर तक पहुंचने में भी काफी परेशानी हो रही है। बावजूद अबतक नाव की व्यवस्था नहीं हो पाई है। जल संसाधन विभाग के अनुसार नदियों के जलस्तर में बढ़ोतरी का असर तटबंधों पर दिख रहा है। रात्रि पेट्रोलिंग तेज कर दी गई है। इंजीनियरों को तटबंधों की 24 घंटे निगरानी के लिए कहा है।

सारण के आमी बांध पर मंडरा रहा खतरा
छपरा जिले में बाढ़ का कहर शुरू हो गया है। जहां गंगा के जल में भारी बढ़ोत्तरी के साथ सोन नदी में उफान के कारण सारण के कई प्रखंडों में बाढ़ की संभावना प्रबल हो गई  है। दिघवारा प्रखंड के आमी, बोधा छपरा सहित कई गांवों पर बाढ़ का खतरा मंडराने लगा है। पानी फोर लेन तक पहुंच गया। गंगा के भयावह रूप को देख आसपास के गांव मे बाढ़ को लेकर दहशत देखा जा रहा है।

जहानाबाद में घर की दीवार गिरने से दंपत्ति की मौत

जहानाबाद. बिहार के जहानाबाद जिले में गुरुवार देर रात दीवार गिरने से पति-पत्नी की मौत हो गई। घटना मखदुमपुर थाना क्षेत्र के कायमगंज इलाके की है। मृतक का नाम बरजंगी पंडित और सुभज्ञा देवी बताया जा रहा है। घटना की जानकारी मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है और जांच में जुट गई है।

तेज आंधी की वजह से ढही दीवार
-पड़ोस में रहने वाले रंजीत राम ने बताया कि रात में तेज आंधी की वजह से दीवार गिर गया। लोगों ने मिलकर मलबा हटाया और पति-पत्नी को बाहर निकाला। दोनों को तुरंत अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। शुक्रवार सुबह थाने में घटना की जानकारी दी गई। सूचना मिलते ही थानाध्यक्ष, मुखिया मौके पर पहुंचे। प्रशासन की तरफ से 40 हजार रुपए मदद का आश्वासन मिला है। परिजनों ने बताया कि इंदिरा आवास के लिए लिए सरकार की तरफ से कोई राशि नहीं मिली थी, इसलिए मिट्टी के मकान में रहने के लिए मजबूर थे।

मीड डे मिल खाकर 20 बच्चे बीमार, हल्दी में मिलाटव की आशंका, हिरासत में हेडमास्टर

भागलपुर.  बिहार के भागलपुर जिले के खरीक प्रखंड के हरिदपुर दियारा गांव के प्राइमरी स्कूल के 20 बच्चे शुक्रवार को मीड डे मिल खाकर बीमार पड़ गए। बच्चों ने जैसे ही खाना खाया उन्हें उल्टी और चक्कर आने लगे। कुछ बच्चे तो बेहोश हो गए। इसके बाद दूसरे बच्चों ने खाना नहीं खाया।

एक के बाद एक 20 बच्चों की तबीयत खराब होने से अफरा-तफरी मच गई। डॉक्टर को बुलाया गया। डॉक्टर ने बीमार बच्चों का इलाज किया और गंभीर स्थिति वाले 11 बच्चों को बेहतर इलाज के लिए मायागंज हॉस्पिटल रेफर कर दिया।

हल्दी में मिलावट की आशंका
मौके पर पहुंची पुलिस ने हेड मास्टर अखिलेश कुमार समेत तीन रसोइयों (अनिता देवी, सुशीला देवी और गीता देवी) को हिरासत में लिया है। आशंका है कि हल्दी में मिलावट की वजह से बच्चे बीमार हुए हैं। रसोइयों ने पुलिस को बताया कि उन्हें हेडमास्टर ने 250 ग्राम हल्दी लाकर दी थी। इसी हल्दी के चलते बच्चे बीमार हुए हैं। हल्दी रखने के बाद खाना का रंग पीला होने की जगह लाल हो रहा है। पुलिस हल्दी के साथ खाना का सैंपल जांच के लिए ले गई है।

लोकतंत्र में जनता ही मालिक होती है

लोकतंत्र में जनता ही मालिक होती है व्यवस्था परिवर्तन के लिए आपको खुद व्यवस्था का अभिन्न अंग बनना पड़ता है वोट की ताकत देश का भविष्य तय करती है और इस भविष्य में अगर साफ-सुथरी छवि के पढ़े-लिखे और जनता के बीच रहने वाले लोग जन प्रतिनिधि के रूप में चुनकर आए तो समाज राज्य और देश का कल्याण होगा। बिहार की राजनीति में एक ऐसे ही शख्स बेगूसराय के बखरी निवासी समाजसेवी रजनी कांत पाठक का पदार्पण हुआ है वैसे तो रजनीकांत पाठक जी विगत डेढ़ दशक से मिथिलांचल इलाके में बतौर समाजसेवी बेहतर कार्य कर रहे हैं तथा अपनी एक साफ-सुथरी और जुझारू छवि बनाने में सफल रहे हैं।
राष्ट्रीय स्तर पर पहचान बना चुके समाज सेवी रजनीकांत पाठक की संघर्ष गाथा आम आदमी के सपनों को साकार करने की प्रेरणा देता है ।

बिहार के बेगुसराय, सकरपुरा गॉंव निवासी दिनेश पाठक (पुराने समाजवादी), के पुत्र शिक्षा-समाज कार्य में पोस्ट ग्रेजुएट, रजनीकांत पाठक ने अप्रैल 1992 को मैट्रिक का एग्जाम देकर अभाव व गरीबी के कारण दिल्ली प्रस्थान किया।
1992 से 1995 तक फैक्टरी में हेल्पर का काम किया। इंटर करने के बाद 1996 से दिल्ली के एक कम्पनी में क्लर्क बने। 1996 में ही दिल्ली विश्व विद्यालय में इवनिंग क्लास में ग्रेजुएट में नामांकन लिया। प्रथम वर्ष में फेल हुए।उसके बाद पढ़ाई छोड़कर सिर्फ काम पर फोकस किया। 1998 से वर्ष 2004 तक अपना व्यापार(प्रोडक्ट डीलर शिप) शुरू किया। 2003 में भारत सरकार के तत्कालीन श्रम मंत्री व दिल्ली के पूर्व मुख्यमंत्री डॉ साहिब सिंह वर्मा के जीवनी पर सूचना संकलन किया। जिसका विमोचन तत्कालीन उपराष्ट्रपति भैरो सिंह शेखवात सिंह द्वारा दिल्ली के द्वारका में किया गया। 2005 में एकता शक्ति फाउंडेशन से जुड़े। इस् संस्था में इन्हें लगातार 3 टर्म्स से उपाध्यक्ष पद पर एक बार मनोनयन और 2 बार चुना गया। यह संस्था वर्ष 2003 से दिल्ली के द्वारका, मटियाला में बिना सरकारी मदद के दो दिव्यांग बच्चो के लिये विद्यालय और महिलाओं को सशक्त करने के उद्देश्य से सिलाई कढ़ाई का प्रशिक्षण देती है।
वर्ष 2006 से बिहार सरकार के साथ मध्याह्न भोजन योजना के तहत केंद्रीयकृत रसोई का कंसेप्ट इनके संस्था द्वारा दिया गया। तत्कालीन शिक्षा सचिव स्वर्गीय मदन मोहन झा द्वारा पायलेट प्रोजेक्ट के तहत इनकी संस्था को पटना के 190 विद्यालय और वैशाली के हाजीपुर प्रखण्ड में प्रयोग के तौर पर कार्य हेतु चयनित किया गया। इनकी संस्था ने डेढ़ वर्ष तक इनके नेतृत्व में सफलतापूर्वक कार्य किया तब जा कर प्रमंडल स्तर पर गये उसके बाद नालंदा और बेगुसराय के शहरी क्षेत्रों में कार्य करने को कहा गया।

रजनीकांत पाठक ने बताया कि पिछले 10 वर्षो से भी ज्यादा से मेरे नेतृत्व में हमारी संस्था द्वारा 2200 विद्यालयो में लगभग ढाई लाख बच्चो को अर्धस्वचालित केंद्रीयकृत रसोई के माध्यम से साप्ताहिक मेनू के अनुसार भोजन परोसा जा रहा है। लगभग 750 सहयोगी परोक्ष रूप से जिला वैशाली, नालंदा, गया और बेगुसराय में काम कर रहे हैं।

इसके अलावा दिल्ली में पूर्वांचल समाज के सांस्कृतिक विकास व लोकआस्था का महापर्व को वृहद स्तर पर लगातार 6 वर्षो तक आयोजन पूर्वांचल उत्कृष्ट महासंघ के बैनर के तहत करते आ रहे हैं। इस् संघ में कोषाध्यक्ष पद पर थे।
दिल्ली के अनाधिकृत कालोनी को नियमित करने के उद्देश्य से नानावटी कमिसन के समक्ष कालोनी की समस्या को सूचीबद्ध करवाया।

वर्ष 2016 में गंगा में आये बाढ़ के कारण 175 सामाजिक कार्यकर्ता के साथ वोलेंट्री सहयोग करते हुए जिला प्रशासन के मार्गदर्शन में हाजीपुर के तेहतिया दियर गांधी सेतु के किनारे 13 दिन तक 4500 से 5000 बाढ़ पीड़ित को संस्था के संसाधन का प्रयोग करते हुए सुबह और शाम का भोजन तैयार कर उसे उनके बीच इन्होनें बंटवाया।यह 13 दिन तक चला। वर्ष 2016 में ही सामाजिक सहयोग से बेगुसराय के बछवाड़ा प्रखण्ड में 1000 लोगो के बीच बाढ़ राहत सामग्री का वितरण। वर्ष 2017 में उत्तर बिहार के दरभंगा, मधुबनी और अररिया में सैकड़ो दाता के सहयोग से 6200 राहत सामग्री का वितरण करवा चर्चा में आए।

ज्ञात हो कि सुनील पाठक इनके बड़े भाई हैं जो पुणे में डेन्फोस कम्पनी में अकॉउंटन्स मैनेजर के पद पर कार्यरत हैं।बिष्णु पाठक जुड़वा भाई जो दिल्ली में अपना व्यवसाय करते हैं। बहन उषा झा बेगुसराय के इटावा डीएवी में शिक्षिका है।