भोजपुरी एक्ट्रेस अक्षरा सिंह का कथित MMS वीडियो लीक हुआ चौंकाने वाला हुआ खुलासा

चर्चित बिहार
16 सितम्बर 2022

वीडियो:  अक्षरा सिंह भोजपुरी की टॉप एक्ट्रेस एक्ट्रेसेस में गिनी जाती हैं। उनकी एक झलक का फैंस को बेसब्री से इंतजार रहता है लेकिन इन दिनों वो चर्चाओं में बनी हुई हैं। खबर है कि, अक्षरा सिंह का MMS वीडियो लीक हो गया है जिसे लेकर इंटरनेट पर बवाल मचा हुआ है। इतना ही नहीं अक्षरा का एक और वीडियो सामने आया है जिसमें वो रोते हुए नजर आ रही हैं।

अक्षरा सिंह का कथित एमएमएस वीडियो लीक!

दरअसल, एमएमएस वीडियो लीक होने के बाद कहा जा रहा है कि अक्षरा ने रोते हुए वीडियो बाद में शेयर किया है। वहीं रिपोर्ट के मुताबिक ये जानकारी मिल रही हैं कि, अक्षरा सिंह का ऐसा कोई भी वीडियो वायरल नहीं हुआ है। महज ये एक अफवाह है। इसी के साथ रिपोर्ट में उनके फैंस के अपील भी की गई है कि वो इन खबरों पर बिलकुल भी ध्यान नहीं दें। ये अक्षरा सिंह का वीडियो नहीं हैं।

एक्ट्रेस ने नहीं दिया बयान

आपको बता दें, अक्षरा ने जो रोते हुए वीडियो शेयर किया है उसमें उन्होंने कहा कि, ‘जो मुझे पसंद करते हैं वो पसंद करेंगे।’ इसी के साथ खबर है कि, ये जो वीडियो वायरल हो रहा है वो अक्षरा सिंह का नहीं बल्कि उनके जैसी दिखने वाली किसी और का है। इसके बाद फैंस ने सोशल मीडिया पर एक्ट्रेस को ट्रोल करना शुरु कर दिया है और उनका कहना है कि, ‘अक्षरा अब सामने आकर अपना बयान दे।’

पहले भी हो चके वीडियो लीक 

अक्षरा सिंह पहली एक्ट्रेस नहीं हैं जिनका एमएमएस वीडियो वायरल हो रहा हो। इससे पहले भी कई भोजपुरी एक्ट्रेसेस के वीडियो लीक होने की खबरें आई थी। हाल ही में शिल्पी राज के भी वीडियो लीक होने की खबर ने तूल पकड़ा था जिसके बाद उन्हें बयान देते हुए फैंस के सामने अपनी सफाई दी थी। उन्होंने कहा था कि, ये सब फेक बातें है और इनपर ध्यान देने की जरूरत नहीं हैं।’

टी-सीरीज़ द्वारा प्रस्तुत रोमांटिक सिंगल ‘खुशी जब भी तेरी’ में जुबिन नौटियाल और खुशाली कुमार पहली बार एक साथ

टी-सीरीज़ द्वारा प्रस्तुत रोमांटिक सिंगल ‘खुशी जब भी तेरी’ में जुबिन नौटियाल और खुशाली कुमार पहली बार एक साथ

भूषण कुमार की टी-सीरीज़ द्वारा प्रस्तुत रोमांटिक ट्रैक ‘खुशी जब भी तेरी’ में पहली बार खूबसूरत खुशाली कुमार के साथ मशहूर सिंगर जुबिन नौटियाल देशभर के फैंस के लिए बेमिसाल सॉन्ग लेकर आए हैं। जबकि दोनों आर्टिस्ट्स म्यूजिक के क्षेत्र में बेहद लोकप्रिय रहे हैं, उन्होंने पहले कभी एक साथ काम नहीं किया है। जुबिन नौटियाल के गायन, रोचक कोहली के म्यूजिक और ए एम तुराज़ के लिरिक्स के साथ, ‘खुशी जब भी तेरी’ स्क्रीन पर लोकप्रिय प्रेम कहावतों का बखान करता है, जैसे प्यार अँधा है, प्यार अनंत है आदि।
नवजीत बुट्टर ने लेह के खूबसूरत और सुरम्य स्थानों में जुबिन और खुशाली की कैमिस्ट्री को कैप्चर किया है।
सॉन्ग के बारे में बात करते हुए और जुबिन के साथ पहली बार काम करने के बारे में खुशाली कुमार कहती हैं, “मैंने हमेशा एक सिंगर और आर्टिस्ट के रूप में जुबिन नौटियाल की प्रतिभा की प्रशंसा की है। ‘खुशी जब भी तेरी’ का म्यूजिक वीडियो बेहद खूबसूरती से शूट किया गया है और मुझे उम्मीद है कि सॉन्ग में जुबिन नौटियाल के साथ मेरी दोस्ती और हमारी ऑनस्क्रीन कैमिस्ट्री की झलक बखूबी नज़र आएगी। म्यूजिक से लेकर इसकी सुंदरता तक हर एक बात से आपको प्यार हो जाएगा।”
जुबिन नौटियाल कहते हैं, “मुझे लगता है कि खुशाली कुमार इस भूमिका को निभाने के लिए एकदम सही व्यक्तित्व हैं। उनकी सुंदरता और मासूमियत ने ‘खुशी जब भी तेरी’ की स्क्रीन को रोशनी से भर दिया है। यह सब इस बारे में है कि दूसरे व्यक्ति की खुशी आपसे पहले कैसे जगह बना लेती है और सच्चा प्यार कैसे अपना रास्ता ढूंढता है।”
रोमांटिक ट्रैक को जल्द ही टी-सीरीज़ के यूट्यूब चैनल पर रिलीज़ किया जाएगा।

धमाका रिकॉर्ड्स ने अपना पहला ट्रैक ‘हम हिंदुस्तानी’, एक सोलफुल इंडिपेंडेंस एंथम आज रिलीज़ किया; इंडस्ट्री के 15 दिग्गज हैं शामिल

धमाका रिकॉर्ड्स ने अपना पहला ट्रैक ‘हम हिंदुस्तानी’, एक सोलफुल इंडिपेंडेंस एंथम आज रिलीज़ किया; इंडस्ट्री के 15 दिग्गज हैं शामिल

गतिशील युवा, प्रियांक शर्मा और पारस मेहता द्वारा संचालित धमाका रिकॉर्ड्स का पहला ट्रैक ‘हम हिंदुस्तानी’ रिलीज़ होने के पहले दिन ही एंथम बनने को तैयार है। इसे इंडिपेंडेंस डे वीकेंड यानी आज रिलीज़ किया जा रहा है। यह एंथम सोलफुल लिरिक्स का एक सुंदर समामेलन है, एक मधुर धुन है और इसे भारतीय फिल्म बिरादरी की 15 महान हस्तियों द्वारा गाया गया है। ऐसा कुछ पहली बार किया गया है।

यह गीत आज के कठिन समय में देश को एकजुट करने और संगीत के शक्तिशाली मंच के माध्यम से एक बेहतर कल और विश्वास के लिए आशा फैलाने का संदेश देता है। इंडस्ट्री के 15 दिग्गजों के द्वारा इस गीत को अपनी आवाज देने के लिए एकजुट होने के साथ, ‘हम हिंदुस्तानी’ दुनियाभर में हर भारतीय के साथ गूंजने का वादा करता है। लता मंगेशकर से लेकर अमिताभ बच्चन, पद्मिनी कोल्हापुरे, अनिल अग्रवाल, सोनू निगम, कैलाश खेर, अलका याग्निक, शब्बीर कुमार, श्रद्धा कपूर, सोनाक्षी सिन्हा, श्रुति हसन, तारा सुतारिया, अंकित तिवारी, सिद्धांत कपूर और जन्नत जुबैर जैसे उम्दा कलाकार इस गीत में अपनी मधुर आवाज दे रहे हैं। कलाकारों, संगीतकारों और इंडस्ट्री के दिग्गजों ने धमाका रिकॉर्ड्स के पहले गीत को अनिल अग्रवाल के साथ गाया है। अनिल एक परोपकारी व्यक्ति हैं, जो गायन से प्रभावित हैं।

गीत को वेदांता ग्रुप के अनिल अग्रवाल फाउंडेशन ने सपोर्ट किया है। वे समुदायों को सशक्त बनाने, जीवन को बदलने और सतत तथा समावेशी विकास के माध्यम से राष्ट्र निर्माण की सुविधा के लिए प्रतिबद्ध हैं और उन्हें देश के 5 शीर्ष परोपकारी लोगों में स्थान दिया गया है।

‘हम हिंदुस्तानी’ नाम ही सब कुछ कह देता है। यह गीत एकता, देशभक्ति की भावना, आशा और विश्वास को बढ़ावा देता है और यह पहली बार है जब देश की महान हस्तियों ने इस प्रकार कोलेबरेट किया है। धमाका रिकॉर्ड्स ने निश्चित रूप से इस उत्कृष्ट ट्रैक के साथ अपने पहले गीत के रूप में एक कदम आगे बढ़ाया है, जो इस प्रकार का पहला गीत है।

धमाका रिकॉर्ड्स की को-फाउंडर, पद्मिनी कोल्हापुरे शानदार गीत के लॉन्च पर बात करते हुए कहती हैं, “यह मेरे लिए बहुत खुशी की बात है कि मेरे बेटे प्रियांक कोल्हापुरे के साथ पारस मेहता, संगीत विरासत को धमाका रिकॉर्ड्स के माध्यम से आगे ले जा रहे हैं। उनका यह पहला ट्रैक इस कठिन और चुनौतीपूर्ण समय में दुनियाभर के सभी फ्रंटलाइन वॉरियर्स को समर्पित है। सुश्री लता मंगेशकर से लेकर अमिताभ बच्चन जैसे सुपरस्टार्स और आज की पीढ़ी के सुपरस्टार्स तक सभी दिग्गज, इस ट्रैक का समर्थन करने के लिए आगे आए हैं। हम इसके लिए बेहद उत्साहित हैं।”

प्रियांक शर्मा कहते हैं, “मेरे भीतर की गहरी कृतज्ञता को व्यक्त करने के लिए मेरे पास शब्द नहीं हैं और मैं अपने लेबल, धमाका रिकॉर्ड्स के लिए इस गीत को लॉन्च करने के लिए भगवान को तहे-दिल से धन्यवाद देता हूँ। मुझे यकीन है कि मैं अपने दादा, पंडित पंढरीनाथ कोल्हापुरे को उनकी संगीत विरासत को आगे बढ़ाने के लिए गौरवान्वित करने जा रहा हूँ। मैं वास्तव में महान सुपरस्टार और सुश्री लता मंगेशकर, अमिताभ बच्चन सर और संगीत बिरादरी के अन्य दिग्गजों से समर्थन और प्यार पाकर धन्य हूँ। मेरे पहले ट्रैक के लिए आज के युवा सितारे भी अपनी आवाज दे रहे हैं। यह गीत हमारे फ्रंटलाइन वॉरियर्स को समर्पित है। मुझे उम्मीद है कि यह ट्रैक दुनियाभर में सभी लोगों के बीच एकता को प्रेरित और प्रोत्साहित करेगा। मैं इस ट्रैक से जुड़े सभी लोगों को धन्यवाद देता हूँ क्योंकि उन्होंने इस गीत को बखूबी जीवंत किया है।”

पारस मेहता कहते हैं, “यह एक महत्वपूर्ण और मेरे लिए एक बहुत बड़ा अवसर है। यह प्रोजेक्ट मेरे दिल में एक विशेष स्थान रखता है और धमाका रिकॉर्ड्स के हमारे पहले वीडियो में लताजी, अमिताभ जी और पद्मिनी जी जैसी महान हस्तियों को शामिल करना एक परम सम्मान की बात है। इंडिपेंडेंस डे वीकेंड पर इस गीत को लॉन्च करने का उद्देश्य, इस कठिन समय का एकजुट होकर मुकाबला करने के लिए आशा, शक्ति और एकजुटता के संदेश को बढ़ावा देना है।”

वेदांता रिसोर्सेस के चेयरमैन, अनिल अग्रवाल कहते हैं, “सभी कलाकारों का काम वास्तव में अद्भुत है। जबकि महामारी ने हम सभी को प्रभावित किया है, इसमें कोई संदेह नहीं है कि हम इससे मजबूती से बाहर निकलेंगे। ‘हम हिंदुस्तानी’ गीत मेरे मूल विश्वास के साथ गूंजता है, जिसे हम सभी जरूर जीतेंगे। मुझे इस गीत ने बेहद प्रेरित किया है, जो आशा और एकजुटता का संदेश देता है। यह सीधे तौर पर एक गौरवान्वित भारतीय के दिल से निकला है।”

मिस्टर एंड मिसेस फिल्म्स द्वारा निर्देशित ‘हम हिंदुस्तानी’ के म्यूजिक डायरेक्टर दिलशाद शब्बीर शेख, लिरिसिस्ट और कम्पोज़र कशिश कुमार और म्यूजिक अरेंजर मोहित बीटलैब हैं। वेदांता ग्रुप के अनिल अग्रवाल फाउंडेशन द्वारा समर्थित धमाका रिकॉर्ड्स गीत ‘हम हिंदुस्तानी’ आज भारतीय रिलीज़ के रूप में इंडिपेंडेंस डे एंथम बनने जा रहा है।

आनंद कुमार पर बनी फिल्म सुपर-30 के बाद अब बिहार के एक और गुरु की कहानी फिल्मी पर्दे पर आएगी

#अबरूपहर्लेपर्दे_पर
#गुरुडॉक्टरएम_रहमान
आनंद कुमार पर बनी फिल्म सुपर-30 के बाद अब बिहार के एक और गुरु की कहानी फिल्मी पर्दे पर आएगी।

पटना में सिविल सर्विसेज की तैयारी कराने वाले गुरु रहमान पर ‘ मैं भी गुरु रहमान’ फिल्म बन रही है। फिल्म को लेकर गुरु रहमान काफी उत्साहित हैं। उन्होंने बताया कि अगले साल यह फिल्म आ जाएगी।गुरु रहमान ने अपनी आनेवाली फिल्म के बारे में बताया कि इस फिल्म की पटकथा माधव सक्सेना ने लिखी है। फिल्म का स्क्रिप्ट दो भागों में बंटा है। फर्स्ट हाफ में दर्शकों को जहां संघर्ष और प्रेम की झलक दिखेगी, वहीं सेकंड हाफ में गरीब बच्चों को प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए तैयार करने के सपने को मूर्त रूप देने की जद्दोजहद दिखेगी।उन्होंने बताया कि फिल्म में गुरु रहमान का किरदार आयुष्मान खुराना, रणबीर सिंह, शाहिद कपूर या विक्की कौशल में से कोई एक निभाएंगे। 81 करोड़ के बजट से इस फिल्म का निर्माण हो रहा है।गुरु रहमान समाज के लिए एक मिसाल हैं। अब तक सौ से अधिक लड़कियों का कन्यादान करा चुके हैं। उन्होंने खुद भी सामाजिक बंधनों को तोड़ते हिंदू महिला से शादी की है। शादी के बाद इनकी पत्नी आज भी हिंदू धर्म का पालन कर रही हैं। गुरु रहमान अपने विचार और कर्म पर विश्वास रखते हैं। वे वेद के भी अच्छे जानकार हैं। इनका जन्म सारण जिले के बसंतपुर में 10 जनवरी 1974 को हुआ। प्रारंभिक शिक्षा डेहरी ऑन सोन से प्राप्त की। उसके बाद स्नातक करने के लिए बनारस हिंदू विश्वविद्यालय चले गए। यहां से उन्होंने प्राचीन भारत एवं पुरातत्व में स्नातक और मास्टर्स भी किया। इसके बाद कोचिंग में पढ़ाना शुरू कर दिया। बाद में वह पटना विश्वविद्यालय में पढ़ाने लगे, जहां यूजीसी ने उन्हें बेस्ट टीचर का अवार्ड दिया गया। साल 1997 में इन्होंने ऋगवेद कालीन आर्थिक एवं सामाजिक विश्लेषण विषय पर पीएचडी पूरी की।डॉ. रहमान ने 1997 प्रेम विवाह किया। इनकी पत्नी का नाम अमिता है, लेकिन अंतरधार्मिक विवाह करने के कारण समाज और उनके घर वालों को यह रिश्ता मंजूर नहीं हुआ। रहमान बताते हैं कि घर वाले अमिता को इस शर्त पर अपनाने को राजी थे कि वह इस्लाम कबूल कर ले, लेकिन धार्मिक स्वतंत्रता में विश्वास रखने वाले डॉ. रहमान को यह मंजूर नहीं था। इन्होंने पत्नी पर कभी कोई दबाव नहीं बनाया। इस कारण घर वालों ने उनसे नाता तोड़ लिया। शादी के लगभग सात वर्षों तक दोनों पति-पत्नी अलग रहे। रहमान लॉज में और अमिता गर्ल्स हॉस्टल में रहीं। भाड़ा चुकाने के लिए उन्हें काफी मशक्कत करनी पड़ी।

आर्थिक सहयोग नहीं मिलने के कारण यह दौर काफी कठिन था। किसी तरह कुछ दिन गुजरे। बाद में प्रो. विनय कंठ की कोचिंग में पढ़ाने का मौका का मिला। इससे महीना में तीन-चार हजार रुपए आने लगे। साल 2004 में इनकी एक किडनी खराब हो गई। इलाज कराने के दौरान इनका सारा पैसा खर्च हो गया। इस वजह से इनकी पत्नी को गहना तक बेचना पड़ा। काफी इलाज के बाद भी जब रोग ठीक नहीं हुआ तो इन्होंने प्राकृतिक चिकित्सा का सहारा लिया। इससे इन्हें काफी आराम मिला। इसी के बल पर यह आज तक स्वस्थ हैं और घंटों तक छात्र-छात्राओं को पढ़ाते हैं।गरीब बच्चों को शिक्षा देने के लिए इन्होंने अपनी बेटी अदम्या अदिति के नाम पर 2010 में संदलपुर इलाके में अदम्या अदिति गुरुकुल की नींव रखी। ये प्रयासरत थे कि यहां एक अनाथालय का निर्माण कराया जाए, जिसमें सैकड़ों गरीब बच्चों को मुफ्त में खाने-पीने, रहने और शिक्षा की व्यवस्था हो। मात्र 11 रुपए में गरीब बच्चों के सपनों को मूर्त रूप देने के सपने को साकार करने में लग गए। इस फिल्म में गुरु रहमान के जिंदगी के अनछुए पहलुओं को दर्शक देख पाएंगे।
©अनूप

जनवरी 2020 में लांच हुए कूकु ऐप को महज 6 महीने में मिला 30 लाख से अधिक डाउन लोड्स का मैसिव सपोर्ट

चर्चित बिहार :  जनवरी 2020 में लांच हुए कूकु ऐप को महज 6 महीने में मिला 30 लाख से अधिक डाउन लोड्स का मैसिव सपोर्ट

ओटीटी इंडस्ट्री का नया गेम चेंजर बना कूकु ऐप
दर्शकों को सबसे आकर्षक कंटेंट उपलब्ध करा रहा कूकु ऐप
कूकु ऐप रख रहा अपने लाभार्थियों का पूरा ध्यान
जुलाई, 2020: ओवर-द-टॉप (ओटीटी) इंडस्ट्री के एक शानदार कंटेंट प्रोवाइडर के रूप में कूकु ऐप को अपने लांच के महज 6 महीने के भीतर ही 30 लाख से ज्यादा डाउनलोड मिले हैं। ख़ास बात यह है कि ऐप भारतीय दर्शकों के लिए अपने इन-हाउस स्क्रिप्ट-राइटर्स द्वारा लिखी गयी भारतीय कहानियों को पेश करता है। ऐप के बेहतरीन कंटेंट को दर्शकों ने खूब पसंद किया है और उनके प्यार का नतीजा ही है कि इतने कम समय में इसकी लोकप्रियता लगातार बढ़ रही है।
इस ऐप को जनवरी 2020 में लॉन्च किया गया था और यह अपने प्लेटफार्म पर पॉपुलर प्रोग्राम्स पेश कर रहा है। इसके कुछ सबसे लोकप्रिय कार्यक्रमों में गोल्डन होल, सुनो ससुरजी और वोह टीचर शामिल हैं जिन्होंने अपनी यूनिक स्टोरी-लाइन के कारण अपने दर्शकों के साथ सही तालमेल कायम कर लिया है। इसके अलावा वाइफ फॉर नाइट, ऑफिस स्कैंडल, शी-मेल, व्हाट द एफ !!!, चुत्ज़्पाह और शादि विवाह जैसे प्रोग्राम भी हिट लाइन अप में आते हैं।

कूकु ऐप की सफलता के बारे में बात करते हुए, ऐप के सीईओ, श्री हर्षवर्धन जोशी ने कहा, “भारत में ओटीटी ऐप का नेतृत्व मल्टी-नेशनल्स द्वारा किया जाता है जो मेट्रो और शहरी दर्शकों की डिमांड को पूरा करते हैं। भारतीय जनता इन प्लेटफॉर्म्स द्वारा पेश किये गए कंटेंट से खुद को नहीं जोड़ पाते हैं। हमारी सबसे बड़ी इच्छा भारतीय जनता को भारतीय कहानियों के साथ मनोरंजन प्रदान करना था, जिसके साथ हमारी जनता खुद को कनेक्ट कर सके। कूकु ऐप में, हमारे पास स्क्रीनप्ले राइटर्स हैं जो जनता की नब्ज पर अच्छी पकड़ रखते हैं, और अपनी कहानियों के साथ उन विचारों को पेश करते हैं जिनसे ऑडियंस खुद को जुड़ा हुआ महसूस करे। इसने हमें तेजी से लोकप्रिय होने में मदद की है।”

कूकु ऐप के कंटेंट पर अधिक बात करते हुए श्री जोशी ने इस बात की जानकारी दी कि कूकु ऐप उन अपकमिंग टैलेंट्स को भी बढ़ावा दे रहा जिनके पास सटीक एक्टिंग स्किल्स मौजूद हैं।

कूकु ऐप की पहुंच सिर्फ भारत के कोने कोने में ही नहीं बल्कि यूएस, यूके और कनाडा जैसे अन्य देशों के दर्शकों के बीच भी अच्छी पकड़ है।
मौजूदा समय में कूकु के पास 10 लाख से अधिक एक्टिव मंथली यूजर्स मौजूद हैं, साथ ही वीकली यूजर इंगेजमेंट 2 घंटे और 30 मिनट से अधिक है। एक जिम्मेदार ओटीटी प्लेयर के रूप में, कूकु को अपने प्रोग्राम्स की कहानियों में सोशल मैसेज को सफलतापूर्वक बुनते हुए देखा जा सकता है। इस प्रकार देखें तो यह प्लेटफार्म सामाजिक रूप से जागरूक मनोरंजन प्रदान कर रहा है। ख़ास बात यह है कि कूकु के बोर्ड ऑफ़ डायरेक्टर्स के रणनीतिक सलाहकार के रूप में पूर्व-क्वालकॉम डायरेक्टर को शामिल किया गया है। यह ऐप फिलहाल एंड्रॉइड और वेब पर उपलब्ध है, और अगस्त 2020 तक iOS पर भी उपलब्ध होने की उम्मीद की जा रही है।

कूकु ओवर-द-टॉप ऐप के बारे में

www.kooku.app

कूकु बड़े पैमाने पर उपलब्ध दर्शकों के लिए एक ओवर-द-टॉप (ओटीटी) मनोरंजन ऐप है, जिसके पास भारत, अमेरिका, ब्रिटेन, कनाडा और अन्य देशों में फैला एक व्यापक वैश्विक ग्राहक बेस मौजूद है। यह भविष्य की प्रतिभाओं द्वारा तैयार किये गए कंटेंट को पेश करता है और बड़े पैमाने पर दिग्गज ओटीटी प्लेटफॉर्म्स द्वारा नजरअंदाज किये गए दर्शकों तक पहुंचाता है।

इस तरह की एक केंद्रित रणनीति ने कूकु के लिए समृद्ध लाभांश का कार्य किया है, जिसने अपने लॉन्च के पहले छह महीनों में 30 लाख से अधिक डाउनलोड प्राप्त किए हैं। कूकु के 10 लाख से अधिक सक्रिय मासिक उपयोगकर्ता हैं, और साप्ताहिक यूजर इंगेजमेंट 2 घंटे और 30 मिनट से अधिक है। एक जिम्मेदार ओटीटी प्लेयर के रूप में, कूकु अपने कार्यक्रमों की कहानियों में किसी न किसी सामाजिक संदेश को सफलतापूर्वक अवश्य बुनता है, तथा इस प्रकार सामाजिक रूप से जागरूक मनोरंजन प्रदान करता है।

एण्ड टीवी के ‘संतोषी मां सुनाएं व्रत कथाएं‘ में क्या स्वाति इंद्रेश को बचा पाएगी?

एण्ड टीवी के ‘संतोषी मां सुनाएं व्रत कथाएं‘ में क्या स्वाति इंद्रेश को बचा पाएगी?

चर्चित बिहार :  एण्ड टीवी के ‘संतोषी मां सुनाएं व्रत कथाएं‘ ‘भक्त और भगवान‘ के बीच के सच्चे रिश्ते को दर्शाता है। शो के पिछले एपिसोड में, सभी दर्शकों ने कुछ नाटकीय मोड़ देखे जहां स्वाति (तन्वी डोगरा) इंद्रेश (आशीष कादयान) को जिन्दगी में आने वाली बाधाओं से सुरक्षित रखने के लिए पंडित जी से निर्देश के अनुसार घर छोड़ देती है। लेकिन ये नाटक यहीं पर खत्म नहीं होता। इन दोनों की जिंदगी में आगे कई और बाधाएं आने वाली हैं, इनका क्या परिणाम होगा, ये देखने के लिए आपको हमारे साथ जुड़े रहना होगा।

देव लोक में, पॉलोमी (सारा खान) जोकि इंद्रेश की गंभीर हालत से पूरी तरह वाकिफ है वो किसी न किसी तरह से उसकी जान लेने की साजिश रचने लगती है। जबकि पृथ्वीलोक पर स्वाति सभी देवताओं और संतोषी मां से इंद्रेश की जिंदगी बचाने के लिए मदद मांग रही है। स्वाति अपने पति को पॉलोमी के चंगुल से छुड़ाने के लिए कुछ भी करने को तैयार है, क्योंकि वो इंद्रेश की जान लेने पर अड़ी हुई है। हर कोई उसके ठीक होने को लेकर चिंतित है, जबकि सिंहासन स्वाति से बहुत ज्यादा गुस्सा है और इस दुर्घटना के लिए स्वाति को जिम्मेदार ठहराता है। ये सब सुनने के बाद, इंद्रेश के बिगड़ते स्वास्थ्य को देखकर स्वाति संतोषी से मां से मदद मांगती है और इंद्रेश के जीवन को बचाने के लिए मां से मदद की गुहार लगाती है.

आगामी एपिसोड के बारे में स्वाति की भूमिका निभाने वाली तन्वी डोगरा ने कहा, ‘‘वर्तमान ट्रैक में बहुत ज्यादा ड्रामा है जहां सिंह परिवार बेटे इंद्रेश को देखने के लिए हॉस्पिटल में है, जिसे एक ट्रक ने टक्कर मार दी है। स्वाति के ससुर सिंहासन इस दुर्घटना के लिए और कुंती को उनकी शादी के लिए सहमत करने पर उसे ही दोषी मानते हैं। इंद्रेश बहुत ही गंभीर स्थिति में है और पूरा परिवार उसके ठीक होने के लिए चिंतित है। क्या संतोषी मां बिना शक्तियों के स्वाति को इंद्रेश की जान बचाने के लिए उसका मार्गदर्शन कर सकेंगी?

सावित्री और सत्यवान के उदाहरण का हवाला देते हुए, संतोषी मां स्वाति को वट सवित्री का व्रत करने की सलाह देती है ताकि वह अपने पति की जिंदगी वापस ला सके। ढ़ेर सारे ड्रामे और भावनाओं से भरपूर, इस शो के आगामी एपिसोड में अपने पति की जिंदगी वापस पाने के लिए स्वाति की भक्ति को दिखाया गया है। जहां महादेव स्वाति की मदद न करने का फैसला करते हैं, वहीं संतोषी मां जरूरतमंद की मदद करने के लिए कदम आगे बढ़ाती हैं। क्या स्वाति वट सावित्री का व्रत पूरा कर पाएगी? क्या इंद्रेश खतरे से बाहर आ पाएगा?

और अधिक जानने के लिए, देखिए ‘संतोषी मां सुनाएं व्रत कथाएं‘, हर सोमवार से शुक्रवार,
रात 9 बजे, केवल एण्ड टीवी पर!

आमिर खान ने ‘लगान’ की कहानी सुनते ही कर दिया था रिजेक्ट, फिर हुआ था कुछ ऐसा

ई दिल्ली: बॉलीवुड के मिस्टर परफेक्शनिस्ट कहलाने वाले आमिर खान की पहचान हिन्दी सिनेमा में बड़ा बदलाव लाने वाले अभिनेता के तौर पर है और वह ऑस्कर नामांकन पाने वालों में भी शुमार हैं, लेकिन अभिनेता ने यह खुलासा किया कि शुरू में उन्हें ‘लगान’ फिल्म का विचार पसंद नहीं आया था, क्योंकि उन्हें इसकी कहानी थोड़ी अजीब लगी थी. आशुतोष गोवारिकर के निर्देशन में खेल की पृष्ठभूमि पर बनी इस फिल्म को समीक्षकों से काफी तारीफ मिली. वर्ष 2001 में आयी यह फिल्म बेहद सफल भी रही. इतना ही नहीं यह फिल्म अकादमी पुरस्कार में सर्वश्रेष्ठ विदेशी भाषा फिल्म वर्ग के लिये नामांकित भी हुई.

आमिर खान की एक्ट्रेस ने ‘दिलबर..’ पर किया ऐसा डांस, देखकर भूल जाएंगे Dangal का अखाड़ा…

इंडियन स्क्रिप्टराइटर्स एसोसिएशन के दूसरे संस्करण से इतर आमिर ने कहा, ”जब मैंने ‘लगान’ की कहानी सुनी तो पांच मिनट बाद ही मैंने इसे नकार दिया… जब मैंने सुना कि यह फिल्म ऐसे लोगों की कहानी है जो बारिश नहीं होने के कारण ‘लगान’ नहीं चुका पा रहे हैं और फिर वे ब्रिटिश लोगों के साथ क्रिकेट खेलते हैं. मैंने सोचा ये कैसी अजीब सोच है? मैंने आशुतोष से कहा कि यह बहुत अजीब कहानी है. मैंने उनसे कुछ अलग कहानी लाने के लिये कहा.” तीन महीने बाद गोवारिकर ने उसी कहानी के साथ आमिर से फिर संपर्क किया लेकिन उस वक्त तक वह पूरी पटकथा लिख चुके थे. आमिर ने कहा कि शुरू में वह चिढ़े, लेकिन गोवारिकर ने इस काम को जारी रखा.

आमिर खान चीन के सुपरस्टार हीरो, इस वजह से बॉलीवुड डांस है पॉपुलर

उन्होंने कहा, ‘‘जब मैंने कहानी सुनी, तब मैं उसमें खो गया. ‘लगान’ की अंतिम पटकथा मुझे बेहद पसंद आयी और मुझे यह अविश्वसनीय लगा. मैंने उनसे कहा कि यह लाजवाब कहानी है और मुख्यधारा सिनेमा का रिकॉर्ड तोड़ेगी. लेकिन मैं इसके लिये हां कहने से डर रहा हूं. मैं इसे नहीं कर सकता.’’ 53 वर्षीय अभिनेता ने गोवारिकर को फिल्म के लिये अन्य अभिनेताओं से संपर्क करने को कहा और फिल्म की पटकथा में कुछ बदलाव लाने का सुझाव दिया.

कैटरीना कैफ ने खोला राज, सलमान खान की फिल्म ‘भारत’ साइन करने की बताई वजह

नई दिल्ली: अभिनेत्री कैटरीना कैफ का कहना है कि वह ऐसा नहीं सोचतीं कि ऐन मौके पर अली अब्बास की फिल्म ‘भारत’ का हिस्सा बनकर उन्होंने इस परियोजना को ‘बचाया’ है. उल्लेखनीय है कि प्रियंका के फिल्म से बाहर जाने के बाद कैटरीना ने अंतिम समय में सलमान खान अभिनीत फिल्म ‘भारत’ का हिस्सा बनना स्वीकार किया है. अंतिम समय में उन्होंने कितने बेहतरीन तरीके से ‘भारत’ को बचा लिया.

इस पर कैटरीना ने कहा, “ऐसा नहीं है. मैं इसे इस तरीके से नहीं देखती हूं. अली अब्बास जफर मेरे बहुत प्यारे दोस्त हैं. हमने एक दूसरे के साथ इससे पहले ‘मेरे ब्रदर की दुल्हन’ व ‘टाइगर जिंदा है’ में काम किया है और दोनों फिल्में बेहद सफल रही हैं. सबसे महत्वपूर्ण है कि मेरा दोनों फिल्मों में काम करने का बेहतर अनुभव रहा है.”

प्रियंका चोपड़ा ने छोड़ा सलमान खान का साथ, भारत फिल्म से किया किनारा- जानें क्या है वजह

उन्होंने कहा कि दूसरी सभी फिल्मों की तरह ही मैंने भारत को भी इसकी स्क्रिप्ट के आधार पर चुना है. उन्होंने कहा, “मैंने खुद के लिए जो भूमिकाएं चुनी हैं, वे पूरी तरह स्क्रिप्ट और फिल्म में मेरे किरदार पर आधारित हैं.”

सलमान खान और कैटरीना कैफ की जोड़ी शुरुआत से ही पॉपुलर है. साल 2005 में आई फिल्म ‘मैंने प्यार क्यों किया?’ में इन्हें पहली बार ऑन-स्क्रीन रोमांस करते हुए देखा गया था. इसके बाद पार्टनर (2007), युवराज (2008), एक था टाइगर (2017), टाइगर जिंदा है (2012) में इन्होंने साथ काम किया.

प्रियंका चोपड़ा का ‘भारत’ छोड़ना रहा कैटरीना कैफ के लिए लकी, पांचवी बार सलमान खान के साथ करेंगी रोमांस

0
टिप्पणियां ‘भारत’ इनकी 5वीं फिल्म होगी, जो अगले साल ईद पर रिलीज होगी. कैटरीना के बारे में निर्देशक अली अब्बास जफर कहते हैं, “कैटरीना आखिरी समय में फिल्म का हिस्सा बनी हैं और प्रतिभाशाली अदाकारा के साथ एकबार फिर काम करना दिलचस्प होगा.”

‘बरेली की बर्फी’ बाद राजकुमार राव संग फिर दिखेगी ये एक्ट्रेस, ‘फन्ने खां’ में कुछ ऐसा होगा रोल

नई दिल्ली:फिल्म ‘बरेली की बर्फी’ में मुख्य अभिनेत्री कृति सेनन की सहेली रमा का किरदार निभाने वाली अभिनेत्री स्वाति सेमवाल एक बार फिर अभिनेता राजकुमार राव के साथ अभिनय करतीं नजर आएंगी. दोनों कलाकार ‘फन्ने खां’ में एक साथ काम कर रहे हैं. स्वाति ने कहा कि इसमें वह एक निर्भीक और आधुनिक अवतार में दिखेंगी. स्वाति ने एक बयान में कहा, “मैंने ‘फन्ने खां’ में एक नवोदित अभिनेत्री का किरदार निभाया है. यह किरदार ‘बरेली की बर्फी’ में मेरे किरदार से एक दम अलग है, जिसमें मैंने मासूम, और आम लड़की का किरदार निभाया था. इसमें मैंने राजकुमार के साथ बिंदास और आधुनिक लड़की का किरदार निभाया है.”

आमिर खान ने ‘लगान’ की कहानी सुनते ही कर दिया था रिजेक्ट, फिर हुआ था कुछ ऐसा

स्वाति ने कहा, “राजकुमार के साथ दोबारा काम करने और अनिल कपूर और ऐश्वर्य राय बच्चन के साथ एक अच्छी फिल्म से जुड़कर बहुत मजा आया.” स्वाति एक फिल्मकार हैं. ‘सोनी लाइव’ पर सोमवार को रिलीज हुई अपने निर्देशन वाली लघुफिल्म ‘समीरा-द अनयूजुअल-अनकंडीशनल लव ट्रायलॉजी’ के बारे में कहा.

‘सत्यमेव जयते’ का ‘तेरे जैसा..’ सॉन्ग हुआ रिलीज, जॉन अब्राहम और आयशा की दिखी शानदार केमेस्ट्री

0
टिप्पणियां उन्होंने कहा, “इस लघुफिल्म को मैंने लिखा है तथा मैंने ही निर्देशित किया है. इसमें मैंने एक मुस्लिम पेंटर समीरा का किरदार निभाया है, जो किसी से बहुत प्यार करती.” ‘फर्स्ट स्टेप एंटरटेनमेंट कैपिटल प्रोडक्शन’ द्वारा निर्मित लघुफिल्म में स्वाति ने मुख्य भूमिका निभाई है.

सपना चौधरी ने इस शख्स के लिए लगाई आग, ‘तेरे आख्या का यो काजल…’ पर यूं हिला डाला स्टेज… देखें Video

नई दिल्ली: सपना चौधरी (Sapna Choudhary) का मशहूर हरियाणवी गाना ‘तेरे आख्या का यो काजल…’ एक बार फिर सोशल मीडिया पर धमाल मचा रहा है. इस बार पंजाबी या भोजपुरी नहीं बल्कि अपने देसी स्टाइल में सपना चौधरी ने कुछ अलग तरह से इस गाने पर डांस किया है. सपना ने एक इवेंट के दौरान अपने इस मशहूर गाने पर एक शख्स को डेडिकेट करते हुए डांस किया. सपना के इवेंट मैनेजर पवन चावला के जन्मदिन के मौके पर उन्होंने यह डांस उन्हें डेडिकेट किया. ‘तेरे आख्या का यो काजल’ गाना इतना मशहूर हो चुका है कि जब भी सपना इस पर दोबारा डांस करती हैं तो लोगों की निगाहें उनके डांस पर टिकी रह जाती हैं.