झारखंड को छोड़ रायपुर चली झारखंड के हेमन्त सरकार

चर्चित बिहार
30 अगस्त 2022

झारखंड राँची : विधानसभा की सदस्यता रद्द होने की आशंका और महागठबंधन में टूट की डर के बीच झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन विधायकों के साथ छत्तीसगढ़ जा रहे हैं। महागठबंधन के विधायकों के साथ बैठक के बाद वह सभी को लेकर रवाना हो गए हैं। रांची एयरपोर्ट पर इंडिगो का विमान तैयार है, जो 4:30 बजे छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर के लिए उड़ान भरेगा। रायपुर में शानदार रिजॉर्ट विधायकों की स्वागत को तैयार है।

झारखंड के सीएम और महागठबंधन के विधायक ऐसे समय पर राज्य से बाहर जा रहे हैं जब एक कानून व्यवस्था को लेकर कई तरह के सवाल उठ रहे हैं। एक तरफ दुमका में अंकिता को जिंदा जला दिए जाने को लेकर आक्रोश है तो दूसरी तरफ पलामू में 50 महादलित परिवारों को उजाड़ दिए जाने को लेकर भारतीय जनता पार्टी हेमंत सरकार पर हमलावर है।

क्यों रायपुर जा रहे हैं विधायक?
हेमंत सोरेन के खिलाफ पत्थर खनन लीज आवंटन मामले में चुनाव आयोग सुनवाई पूरी करके अपनी सिफारिश राज्यपाल को भेज चुका है। माना जा रहा है कि ऑफिस ऑफ फ्रॉफिट केस में हेमंत सोरेन की सदस्यता जा सकती है और इस वजह से उन्हें मुख्यमंत्री की कुर्सी छोड़नी पड़ सकती है। इस बीच महागठबंधन को टूट का डर भी सता रहा है। झारखंड मुक्ति मोर्चा भाजपा पर विधायकों को तोड़ने के प्रयास का आरोप लगा रही है। ऐसे में कुनबा सुरक्षित करने के लिए विधायकों को कांग्रेस शासित प्रदेश में शिफ्ट किया जा रहा है।