कोढोबाड़ी थाने के पत्थरघट्टी में हुए सामूहिक दुष्कर्म के सभी छह आरोपी न्यायिक हिरासत में

कोढोबाड़ी थाने के पत्थरघट्टी में हुए सामूहिक दुष्कर्म के सभी छह आरोपी न्यायिक हिरासत में

चर्चित बिहार :- -चार को पुलिस ने किया गिरफ्तार
-दो ने कोर्ट में किया आत्म समर्पण
-सभी पर चलेगा स्पीडी ट्रायल
-पीड़िता को मुआवजा दिलाने का प्रयास कर रही है किशनगंज पुलिस
-रिमांड पर लेकर होगी आरोपियों से पूछताछ

दिघलबैंक के पथरघट्टी में हुए सामूहिक दुष्कर्म के मामले में जिला पुलिस अधीक्षक कुमार आशीष द्वारा गठित एसआईटी की लगातार छापेमारी एवं दबिश से अन्य शेष बचे दो आरोपियों ने सोमवार को किशनगंज न्यायालय में आत्मसमर्पण कर दिया.जिसे किशनगंज पुलिस रिमांड पर लेकर पूछताछ करेगी जिससे मामले से संबंधित कई नई जानकारियां सामने आ सकती है.गौरतलब है पिछले सोमवार की मध्य रात्रि को घर मे सोई एक 19 वर्षीय युवती को आस-पड़ोस के ही आधा दर्जन अपराधियों ने घर से जबरन उठा कर उसके बुजुर्ग पिता को बंधक बनाकर, मुंह और आंख पर काली पट्टी बांध कर उसके सामने ही सामूहिक दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया.घटना की सूचना मिलने के तुरंत बाद जिला पुलिस कप्तान कुमार आशीष ने स्वयं घटना स्थल का जायजा लेकर पीड़िता से आवश्यक पूछताछ के बाद मामले की गंभीरता को देखते हुए स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम(एसआईटी) गठित कर लगातार छापेमारी के आदेश जारी किए. इस टीम में घटनास्थल के समीप के सभी थानों के पुलिस अधिकारियों को इस कार्य में लगाया और तुरंत नतीजा भी निकला 36 घंटे के भीतर चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया जबकि एसपी की सटीक रणनीति एवं कुशल नेतृत्व में SIT की लगातार छापेमारी एवं दबिश के कारण शेष बचे दोनों आरोपियों ने सोमवार को माननीय न्यायालय में आत्म समर्पण कर दिया. सभी आरोपियों को पुलिस रिमांड पर लेकर आगे की कार्रवाई करेगी।

पीड़ित को मुआवजा दिलाने को लेकर एसपी कर रहें हैं पहल

सामूहिक दुष्कर्म की पीड़िता को त्वरित न्याय दिलाने के लिए लगातार प्रयासरत किशनगंज पुलिस अब पीड़िता को जिला पीड़ित प्रतिकर निधि के माध्यम से समुचित मुआवजा ( प्रावधान के अनुसार 3-5 लाख रुपये) दिलवाने के प्रयास भी शुरू कर रही है. इसके लिए सोमवार को जिला अपराध क्षति प्रतिकर बोर्ड” को आवेदन करवाया जा रहा है.

सभी आरोपियों को पुलिस रिमांड पर लेकर पूछताछ करेगी.वैज्ञानिक तरीके से साक्ष्य प्रस्तुत कर कठोरतम सज़ा दिलाने का होगा प्रयास.और सभी अभियुक्तों पर स्पीडी ट्रायल चलेगा.ताकि पीड़ित को जल्द से जल्द न्याय मिल सके. “कुमार आशीष एसपी,किशनगंज*”