दोषी के नहीं पकड़े पर बेगूसराय में होगा बड़ा आंदोलन: सम्राट चौधरी

सुरेन्द्र, बेगूसराय।
चर्चित बिहार कुशवाहा हॉस्टल में छात्रों के साथ हुई मारपीट का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। एनएसयूआई, भाजपा जिलाध्यक्ष की टीम, युवा जाप की टीम एवं जदयू छात्र इकाई के बाद गुरुवार की देर रात बिहार सरकार के पूर्व नगर विकास मंत्री भाजपा नेता सम्राट चौधरी छात्रों से मिलने सदर अस्पताल पहुंचे। उन्होंने कहा कि कुशवाहा छात्रावास के हॉस्टल में रहकर पढ़ाई करने वाले चारों गरीब छात्रों के साथ अपराधियों के द्वारा निर्मम पिटाई करना, अमानवीय हरकत करना तथा उनके पैर में गोली मारना जघन्य अपराध से भी ऊपर का अपराध है। जिस तरह से छात्रों को अपराधी के द्वारा दिनभर टॉर्चर और अमानवीय व्यवहार कर अश्लील वीडियो बनाया गया और पैर में गोली मारी गई। इससे साफ जाहिर होता है कि या तो अपराधी मानसिक रूप से बीमार है या उसे अपराधिक घटना करने की प्रवृत्ति है। हर हाल में उस पर त्वरित कार्रवाई होनी चाहिए। 24 घंटे के अंदर घटना में संलिप्त सभी अपराधियों की गिरफ्तारी नहीं होती है तो बेगूसराय की धरती पर एक सप्ताह के बाद बड़ा आंदोलन होगा। नगर थाना के पुलिस की भूमिका भी इस मामले में संदिग्ध है। पूर्व मंत्री ने कहा कि हमने बेगूसराय सदर अस्पताल की व्यवस्था से भी बेगूसराय के जिला अधिकारी को अवगत कराया है तथा सदर अस्पताल की समुचित व्यवस्था सुदृढ़ करने का अनुरोध किया है। सदर अस्पताल का एक्स-रे मशीन खराब है। अल्ट्रासाउंड मशीन बहुत दिनों से खराब पड़ा है। एक्स-रे मशीन खराब रहने के कारण सदर अस्पताल के मरीजों को एक्स-रे कराने के लिए बाहर जाना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य मंत्री अभी बाहर हैं। उनके पटना लौटने पर बेगूसराय सदर अस्पताल के कुव्यवस्था से अवगत उन्हें कराएंगे। इससे पहले घटना की जानकारी पीड़ित छात्रों से लिया तथा अपने निजी कोष से इलाज रत छात्रों को पांच-पांच हजार रुपये की मदद किया। मौके पर पूर्व विधायक सुरेन्द्र मेहता, रालोसपा जिलाध्यक्ष श्याम बिहारी वर्मा, वैश्य महासम्मेलन के जिलाध्यक्ष सह पुलिस पब्लिक मैत्री समिति के उपाध्यक्ष डॉ राजेश कुमार रौशन, भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष जयराम दास, पुलिस पब्लिक मैत्री समिति के सचिव पूर्व नगर पार्षद रंजीत दास, डॉ प्रवीण कुमार, जदयू नेता अरुण महतो आदि मौजूद थे।