राजा जी नहीं रहे

राजा जी नहीं रहे “
————————-
चर्चित बिहार मेरे पितातुल्य अभिभावक एवं समस्तीपुर में राजा जी के नाम से मशहूर श्री विश्वनाथ साह जी नहीं रहे। दिनांक 3 नवंबर (शनिवार) को देर रात लगभग 12 बजे उनका निधन हो गया। 75 वर्षीय श्री साह आजीवन कांग्रेस के सदस्य रहे। वर्ष 1995 में वे कांग्रेस के टिकट से समस्तीपुर विधानसभा से चुनाव भी लड़ चुके थे। राजा जी भले ही कांग्रेसी थे, लेकिन सभी दलों व वर्गों के लोगों से उनका मित्रवत व्यवहार था। सभी धर्म व वर्ग के छोटे-बड़े लोगों को श्री साह सम्मान देते थे और सारे लोग भी उनका सम्मान करते थे। श्री साह लगभग 40 वर्षों तक समस्तीपुर नगर निकाय के निर्वाचित सदस्य रहे और नगर परिषद में उप मुख्य पार्षद सहित कई महत्वपूर्ण पदों पर रहते हुये शहर के विकास में महत्वपूर्ण योगदान दिया। स्टेशन चौक स्थित मीनाक्षी स्वीट्स व रेस्ट हाउस और पंजाबी कॉलोनी स्थित मीनाक्षी उत्सव पैलेस के माध्यम से राजा जी हमेशा गरीबों व जरूरतमंदों की बिना भेदभाव किये अनवरत मदद करते रहे। उनके निधन से समाज को अपूरणीय क्षति हुई है, जिसकी भरपाई नहीं कि जा सकती। उनके बड़े सुपुत्र कृष्ण कुमार यूएनआई व आकाशवाणी के प्रतिष्ठित पत्रकार हैं। मंझले सुपुत्र गोपाल प्रसाद भी एसपीएन नामक एक लोकल न्यूज चैनल चलाते हैं। वहीं छोटे सुपुत्र कन्हैया राजस्थान सरकार में वरीय प्रशासनिक पदाधिकारी हैं।
राजा जी के निधन से मुझे तो व्यक्तिगत क्षति हुई है, जिसका वर्णन नहीं कर सकता। बहुत मर्माहत हूँ। राजा जी को प्रणाम करते हुये उन्हें अश्रुपूरित नेत्रों से श्रद्धांजलि अर्पित करता हूँ।
भगवान राजा जी की आत्मा को शांति प्रदान करें। इस दुख की घड़ी में उनके परिवार को शक्ति व साहस प्रदान करें, जिससे कि इस परिस्थिति का सामना वे धैर्य के साथ कर सकें।
ॐ शांति शांति शांति।