मुजफ्फरपुर दुष्कर्म कांड के आरोपी पूर्व मंत्री पति चंद्रशेखर वर्मा ने किया आत्मसमर्पण

सुरेन्द्र, बेगूसराय।
चर्चित बिहार मुजफ्फरपुर बालिका गृह दुष्कर्म से संबंधित मामलों में फरार चल रहे पूर्व मंत्री मंजू वर्मा के पति चंद्रशेखर वर्मा ने सोमवार को मंझौल न्यायालय में आत्मसमर्पण कर दिया। सैकड़ों समर्थकों के साथ न्यायालय पहुंचे में चन्द्रशेखर वर्मा को आत्मसमर्पण करने के बाद 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। बता दें कि देश को झकझोरने वाले मुजफ्फरपुर दुष्कर्म कांड के मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर के मोबाइल से खुले राज में चंद्रशेखर वर्मा का नाम सामने आया तथा कई बच्चियों ने भी इस पर घिनौना आरोप लगाया था। इसके बाद बिहार सरकार के समाज कल्याण मंत्री मंजू वर्मा ने मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था। मामले की जांच कर रही सीबीआई की टीम जब मंजू वर्मा के ससुराल श्रीपुर अर्जुन टोला में रेड करने पहुंची तो कई दस्तावेजों के साथ घर से प्रतिबंधित हथियारों की 50 गोली मिली थी। इस मामले में सीबीआई के डीएसपी उमेश कुमार द्वारा चेरिया बरियारपुर थाना में आर्म्स एक्ट की धारा 25(ए-1), 26 एवं 27 के तहत थाना कांड संख्या 143/18 दर्ज कराया गया था। मामले में अग्रिम जमानत याचिका बेगूसराय न्यायालय एवं पटना उच्च न्यायालय ने खारिज कर दिया गया। बीते दिनों मुजफ्फरपुर मामले की सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने भी गिरफ्तारी नहीं होने पर सवाल उठाया था। इसके बाद एसपी द्वारा मंझौल डीएसपी के नेतृत्व में गठित टीम लगातार गिरफ्तारी का प्रयास कर रही थी। जमानत याचिका खारिज होने पर 12 अक्टूबर को कोर्ट द्वारा जारी इश्तेहार चंद्रशेखर वर्मा के आवास पर चिपका दिया गया था। 30 दिनों के अंदर गिरफ्तारी या हाजिर नहीं होने पर घर की कुर्की जब्ती होनी थी तथा पुलिस लगातार प्रयास कर रही थी। लेकिन इसी बीच सोमवार की सुबह चंद्रशेखर वर्मा ने नाटकीय तरीके से कोर्ट में आत्मसमर्पण कर दिया। हालांकि प्रतिबंधित गोली मिलने में आरोपी पूर्व मंत्री मंजू वर्मा अभी भी फरार है।