रेलवे में ऐसी व्यवस्था तैयार की है कि अब किसी की सिफारिश नहीं चलेगी; कंप्यूटर बेस्ड परीक्षा होगी और इंटरव्यू नहीं होगा- पीयूष गोयल

पटना चर्चित बिहार: केंद्रीय रेलमंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि रेलवे में जल्द ही 1.30 लाख नई नौकरियां आने वाली हैं। इनके लिए इंटरव्यू नहीं होगा। सिर्फ कंप्यूटर बेस्ड परीक्षा होगी और कंप्यूटर से ही रिजल्ट तैयार किया जाएगा। हमने ऐसी व्यवस्था तैयार की है जिससे हर छात्र को हुनर पर नौकरी मिलेगी। किसी की कोई सिफारिश नहीं चलने वाली है। साथ ही, उन्होंने कहा कि 10 हजार रेलवे सुरक्षा बलों की आगामी भर्तियों में 50 फीसदी पद महिलाओं के लिए आरक्षित होंगे। पटना के बापू सभागार में आयोजित कार्यक्रम में रेलमंत्री ने करोड़ों रुपए की विकास परियोजनाओं का भी शिलान्यास व लोकार्पण किया। इस दौरान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी समेत कई मंत्री और विधायक मौजूद रहे।

र गांव तक पहुंची बिजली: पीयूष गोयल ने कहा कि बिहार में जिस तरह से विद्युतीकरण का काम हुआ है, उसका जिक्र मैं पूरे देश में करता हूं। नीतीश कुमार के नेतृत्व में हर गांव तक बिजली पहुंची। दिसंबर 2018 तक हर घर तक बिजली पहुंचाने का लक्ष्य रखा गया है। उन्होंने कहा कि बिहार की जनता अब विकास चाहती है। हर बच्चे को इंटरनेट चाहिए ताकि वह अच्छी शिक्षा ग्रहण कर सके। बिहार के विकास में हम कोई कमी नहीं रहने देंगे।

इन परियोजनाओं का किया शिलान्यास और लोकार्पण

– रक्सौल- नरकटियागंज आमान परिवर्तित रेलखंड का लोकार्पण
– रक्सौल-नरकटियागंज रेलखंड पर प्रथम सवारी गाड़ी के परिचालन का शुभारंभ
– सुपौल-अररिया नई रेल लाइन का शिलान्यास
– बिरौल-हरनगर नई रेल लाइन का लोकार्पण एवं तीन जोड़ी सवारी गाड़ी के परिचालन का मार्ग विस्तार
– महिला रेल यात्रियों के खिलाफ अपराधों की रोकथाम के लिए रेलवे सुरक्षा बल की महिला टुकड़ी “तेजस्विनी” का अभिनंदन