पटना : थाने से कुछ कदमों की दूरी पर मोइनुल हक स्टेडियम में दारोगा अभ्यर्थी की गोली मारकर हत्या, दो जख्मी

0
29
चर्चित बिहार पटना : मोइनुल हक स्टेडियम में कदमकुआं थाने से चंद कदमों की दूरी पर गुरुवार की सुबह दारोगा अभ्यर्थी अमर कुमार (25 वर्ष) की गोली मार कर हत्या कर दी गयी है.
अमर कुमार सहरसा जिले के गेमरा सोनबरसा का रहने वाला था. वह दारोगा की परीक्षा में शामिल हुआ था. लिखित परीक्षा पास करने के बाद फिजिकल की तैयारी के लिए स्टेडियम में आता था. फायरिंग में अमर कुमार की मौत हो गयी, जबकि दो अभ्यर्थियों के अभिभावक उदय प्रसाद और संजीत प्रसाद घायल हो गये हैं. दोनों को गोली का छर्रे लगे हैं. दोनों को पीएमसीएच में इलाज के लिए भर्ती कराया गया है.
पहले भी हो चुकी है गाली-गलौज : सूत्रों कि मानें तो एक महिला दारोगा अभ्यर्थी पहले आशीष उर्फ राहुल मेंटल से ट्रेनिंग ले रही थी, इसके बाद वह आशीष गुप्ता के ग्रुप में चली गयी. इसको लेकर दोनों ट्रेनर आपस में गाली-गलौज कर चुके थे.
गुरुवार की सुबह इसी बात को लेकर विवाद शुरू हुआ और मेंटल की तरफ से फायरिंग कर दी गयी. इसमें अमर की मौत हो गयी, जबकि उदय प्रसाद (42 वर्ष) निवासी घनौर पार नवादा और संजित प्रसाद निवासी भूतनाथ रोड घायल हो गये. दोनों को इलाज के लिए पीएमसीएच में भर्ती कराया गया है.
घटना के बाद एसएसपी मनु महाराज समेत भारी पुलिस बल मौके पर पहुंचा. मामले की छानबीन की गयी. इस दौरान स्टेडियम के बाहर लगे सीसीटीवी फुटेज को खंगाला गया. इसमें गोली मारने वाले लोगों की पहचान की गयी. इसके बाद छापेमारी की गयी. पुलिस ने दोपहर तक छह आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है.
इसमें दारोगा अभ्यर्थियों को शारीरिक दक्षता के लिए निजी तौर पर ट्रेनिंग देने वाला आशीष उर्फ राहुल मेंटल भी शामिल है. पुलिस पूरे मामले की छानबीन कर रही है. एसएसपी का कहना है कि जिस हथियार से गोली मारी गयी है, वह अभी बरामद नहीं हुआ है, छापेमारी जारी है, जल्द हथियार बरामद कर लिया जायेगा. इस मामले में बहादुरपुर थाने में आशीष कुमार गुप्ता के बयान पर केस दर्ज कर लिया गया है.
 
दोनों ट्रेनर ग्रुप में थी प्रतिस्पर्धा
 
घटनास्थल को लेकर सीमा विवाद  
 
मोइनुल हक स्टेडियम में 
मौजूद कुदमकुआं थाने से चंद कदम की दूरी पर गोली चलने के बाद सुबह-सुबह अफरा-तफरी मच गयी. घटना के बाद आशीष कुमार गुप्ता के परिजन कदमकुआं थाने पहुंचे. वहां ओडी अफसर अरुण पासवान को जानकारी दी. लेकिन आरोप है कि ओडी अफसर ने तत्परता नहीं दिखायी और यह कह कर
पल्ला झाड़ लिया कि मामला बहादुरपुर थाना क्षेत्र का है. अशीष कुमार की मां शारदा देवी थाना गयी थी लेकिन पुलिस ने इसे गंभीरता से नहीं लिया. इस पर लोग आक्रोशित हो गये और हंगामा करने लगे. मौके पर एसएसपी मनु महाराज पहुंचे थे. इस बात की जानकारी होने पर ओडी अफसर को तत्काल सस्पेंड कर दिया गया है. वहीं सीसीटीवी के फुटेज के आधार पर छह लोगों को गिरफ्तार किया गया है.
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments