परशुराम जयंती पर भूमिहार-ब्राह्मणों के करीब पहुंचे तेजस्वी यादव, समाज के लिए कही बड़ी बात

चर्चित बिहार :
न्यूज़ डेस्क
अप्रैल 03/05 /2022

पटना. बोचहां विधानसभा उपचुनाव के बाद बिहार में भूमिहारों ने खुल कर ऐलान किया था कि भूमिहार समाज अब सत्ता का समर्थन नहीं करेगा. इसका उदाहरण आज यानी मंगलवार को तब देखने को मिला जब पटना (Patna) के ज्ञान भवन में आयोजित परशुराम जयंती में भूमिहार, ब्राह्मण समाज के बुलावे पर विधानसभा में नेता विपक्ष तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) जोश के साथ पहुंचे. इस मौके पर तेजस्वी ने अपने भाषण से भूमिहार और ब्राह्मण समाज का दिल जीतने का हरसंभव प्रयास किया. उन्होंने कहा कि धन्यवाद आप सभी को कि आपने हमें मयखय अतिथि के तौर पर बुलाया. मैं विश्वास दिलाता हूं कि आजीवन इस समाज के लिए काम करूंगा.

नेता विपक्ष ने इस दौरान भगवान परशुराम से आशीर्वाद मांगा कि वो उन्हें इतनी शक्ति दें कि वो हर किसी को न्याय दिला सकूें. तेजस्वी यादव अब राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) को ए टू जेड की पार्टी बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ना चाहते हैं. उन्होंने परशुराम जयंती कार्यक्रम में भूमिहार और ब्राह्मण समाज की जमकर तारीफ की और एनडीए सरकार पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि आपका समाज मजबूत समाज है इसमें कोई शक नहीं. आज बिहार को आर्थिक न्याय की जरूरत है. ऐसे में यह बुद्धिजीवी समाज का समर्थन मिला तो जरूर न्याय देंगे.

तेजस्वी ने कहा कि उनकी पार्टी आरजेडी ने पिछले एमएलसी चुनाव में पांच सीटें भूमिहार समाज को देने का काम किया था जिसमें से तीन प्रत्याशियों ने जीत दर्ज की थी. इसलिए आप लोग निश्चिंत रहिए क्योंकि हम वोट की राजनीति करने नहीं आये हैं, चुनाव की बात करने नहीं आये हैं बल्कि अपका साथ देने आए हैं, और यदि आपलोग ठान लीजिएगा तो बेरोजगारी भी दूर हो जाएगी और भ्रष्टाचार भी खत्म होगा.

इस दौरान भूमिहार संघ के अध्यक्ष अशुतोष ने तेजस्वी यादव के कार्यक्रम में पहुंचने पर उनका स्वागत किया. उन्होंने भूमिहार ब्राह्मण समाज से अपील करते हुए कहा कि अब बदलाव लाने की जरूरत है. वहीं, तेजस्वी ने बार-बार यह भरोसा दिया कि हमें आप एक बार मौका दें, हम आपकी उम्मीदों पर खरा उतरेंगे. उन्होंने भोजपुरी में कहा कि अभी फेंटाए हैं, आगे सनाएंगे, फिर बिहार में बदलाव होगा.